popUpDesktop
gift
Exclusive offer(s) for you

Terms & Conditions

Avail this offer now →
/ / / / / ऑप्टिमम न्यूट्रिशन गोल्ड स्टैंडर्ड 100% व्हे प्रोटीन

ऑन (ऑप्टिमम न्यूट्रिशन) गोल्ड स्टैंडर्ड 100% व्हे प्रोटीन, 10 पौंड वनीला आइस क्रीम

American Express Axis Bank HDFC Bank HSBC ICICI Bank Indusind Bank Kotak RBL Bank Standard Chartered Bank State Bank of India YES Bank
American Express EMI विवरण
EMI कार्यकाल (महीनों) बैंक की ब्याज दर (%) मासिक किश्त (₹ ) कुल रकम (₹ )
3 12.0 4085.71 12257.13
6 12.0 2073.34 12440.04
9 12.0 1402.75 12624.75
12 12.0 1067.61 12811.32
Axis Bank EMI विवरण
EMI कार्यकाल (महीनों) बैंक की ब्याज दर (%) मासिक किश्त (₹ ) कुल रकम (₹ )
3 12.0 4085.71 12257.13
6 12.0 2073.34 12440.04
9 13.0 1408.47 12676.23
12 13.0 1073.24 12878.88
HDFC Bank EMI विवरण
EMI कार्यकाल (महीनों) बैंक की ब्याज दर (%) मासिक किश्त (₹ ) कुल रकम (₹ )
3 13.0 4092.43 12277.29
6 13.0 2079.28 12475.68
9 14.0 1414.2 12727.8
12 14.0 1078.88 12946.56
18 15.0 749.62 13493.16
24 15.0 582.62 13982.88
HSBC EMI विवरण
EMI कार्यकाल (महीनों) बैंक की ब्याज दर (%) मासिक किश्त (₹ ) कुल रकम (₹ )
3 12.5 4089.07 12267.21
6 12.5 2076.31 12457.86
9 13.5 1411.33 12701.97
12 13.5 1076.06 12912.72
18 13.5 741.16 13340.88
ICICI Bank EMI विवरण
EMI कार्यकाल (महीनों) बैंक की ब्याज दर (%) मासिक किश्त (₹ ) कुल रकम (₹ )
3 13.0 4092.43 12277.29
6 13.0 2079.28 12475.68
9 13.0 1408.47 12676.23
12 13.0 1073.24 12878.88
Indusind Bank EMI विवरण
EMI कार्यकाल (महीनों) बैंक की ब्याज दर (%) मासिक किश्त (₹ ) कुल रकम (₹ )
3 13.0 4092.43 12277.29
6 13.0 2079.28 12475.68
9 13.0 1408.47 12676.23
12 12.0 1067.61 12811.32
18 12.0 732.76 13189.68
24 12.0 565.63 13575.12
Kotak EMI विवरण
EMI कार्यकाल (महीनों) बैंक की ब्याज दर (%) मासिक किश्त (₹ ) कुल रकम (₹ )
3 12.0 4085.71 12257.13
6 12.0 2073.34 12440.04
9 14.0 1414.2 12727.8
12 14.0 1078.88 12946.56
RBL Bank EMI विवरण
EMI कार्यकाल (महीनों) बैंक की ब्याज दर (%) मासिक किश्त (₹ ) कुल रकम (₹ )
3 13.0 4092.43 12277.29
6 13.0 2079.28 12475.68
9 13.0 1408.47 12676.23
12 13.0 1073.24 12878.88
18 13.0 738.35 13290.3
24 13.0 571.26 13710.24
Standard Chartered Bank EMI विवरण
EMI कार्यकाल (महीनों) बैंक की ब्याज दर (%) मासिक किश्त (₹ ) कुल रकम (₹ )
3 13.0 4092.43 12277.29
6 13.0 2079.28 12475.68
9 14.0 1414.2 12727.8
12 14.0 1078.88 12946.56
18 15.0 749.62 13493.16
24 15.0 582.62 13982.88
State Bank of India EMI विवरण
EMI कार्यकाल (महीनों) बैंक की ब्याज दर (%) मासिक किश्त (₹ ) कुल रकम (₹ )
3 14.0 4099.15 12297.45
6 14.0 2085.23 12511.38
9 14.0 1414.2 12727.8
12 14.0 1078.88 12946.56
YES Bank EMI विवरण
EMI कार्यकाल (महीनों) बैंक की ब्याज दर (%) मासिक किश्त (₹ ) कुल रकम (₹ )
3 12.0 4085.71 12257.13
6 12.0 2073.34 12440.04
9 13.0 1408.47 12676.23
12 13.0 1073.24 12878.88
18 14.0 743.97 13391.46
24 15.0 582.62 13982.88

यह तालिका उत्पाद की कीमत के आधार पर अलग-अलग बैंकों और संबंधित EMI विकल्प दिखाती है। यह केवल संकेतक उद्देश्यों के लिए है, आपके EMI भुगतान कुल आदेश राशि और अतिरिक्त बैंक शुल्क, यदि कोई हो, के साथ अलग हो सकता है।

  1. भुगतान के समय अपना पसंदीदा EMI विकल्प चुनें।
  2. अंतिम EMI का भुगतान भुगतान के समय आपके ऑर्डर के कुल मूल्य पर की जाती है।
  3. मासिक मासिक शेष राशि के अनुसार बैंक वार्षिक ब्याज दर का भुगतान करता है। मासिक कटौती चक्र में, प्रिंसिपल प्रत्येक EMI के साथ कम हो जाता है और बकाया राशि को बकाया राशि पर गणना की जाती है।
  4. HealthKart के EMI भुगतान विकल्प का लाभ लेने के लिए कोई प्रोसेसिंग शुल्क नहीं लिया जाता है।
  5. रद्दीकरण या वापसी के मामले में, उस समय तक बैंक द्वारा लगाया गया ब्याज किसी भी परिस्थिति में वापस नहीं होगा। आंशिक रद्दीकरण की अनुमति है।
Down arrow Up arrow
प्रोदुक्त तुलना
Add to Wishlist
ऑप्टिमम न्यूट्रिशन गोल्ड स्टैंडर्ड 100% व्हे प्रोटीन, 10 पौंड वेनिला आइस क्रीम
# 5
रैंक नंबर. 5 
व्हे प्रोटीन

ऑप्टिमम न्यूट्रिशन गोल्ड स्टैंडर्ड 100% व्हे प्रोटीन, 10 पौंड वेनिला आइस क्रीम

  •  यह प्रोदुक्त मदद करता है मांसपेशियों के निर्माण में
  •  आम तौर पर पानी के साथ ले
  • अधिक जानिए
प्रस्ताव
  • यह उत्पाद पहले से ही अपने सर्वश्रेष्ठ मूल्य पर है। इस उत्पाद पर कोई अन्य ऑफ़र / कूपन मान्य नहीं है
एमआरपी:₹ 12649
मूल्य:₹ 12016 5% माफ
(EMI शुरू होता है ₹ 565.63)
HK Cash कमाएँ  ₹ 60
?
Free Shipping
Authenticity Guaranteed 100% प्रामाणिकता की गारंटी

प्रोदुक्त विवरण

  • ऑप्टिमम न्यूट्रिशन गोल्ड स्टैंडर्ड 100% व्हे प्रोटीन के आइसोलेट और अल्ट्रा फिल्टर्ड व्हे प्रोटीन कॉन्संट्रेट के साथ आता है, जो कमजोर मसल्स के विकास में फायदा करता है।
  • इसमें 5.5 ग्राम प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले बीसीएए होते हैं और यह तनावपूर्ण वर्कआउट सेशंस के बाद मसल्स की तेजी से रिकवरी करने में मदद करता है।
  • यह आपके शरीर के मेटाबॉलिजम को दुरुस्त और सही रखने में मदद करता है।
  • यह आपके शरीर की ऊर्जा और क्षमता को बढ़ाने में सहयोग देता है।
  • ऑन गोल्ड स्टैंडर्ड व्हे प्रोटीन नैचुरली फ्लेवर्ड और बढ़िया गुणवत्ता का हेल्थ सप्लिमेंट है जो आपकी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने और भरपूर पोषण देने के लिए बना है ।
विक्रेता: रेडिकुरा फार्मास्यूटिकल्स प्राइवेट लिमिटेड.
उत्पादक: ऑप्टिमम न्यूट्रिशन, 975 मैरीदियान लेक डॉ अरुरा आईएल 60504, संपर्क करें:  011 4959 4959, ईमेल: [email protected]

प्रोदुक्त की जानकारी

सामान्य लक्षण
वजन 10 lb
वजन (kg) 4.55  kg
Protein % per Serving 77.0  %
मूल्य प्रति kg 2643.52  Rs/kg
सर्विंग्स की संख्या 149
सेवारत आकार 31 g
प्रोटीन प्रति सेवा 24 g
शाकाहारी / गैर शाकाहारी शाकाहारी
अतिरिक्त जानकारी
मैन्यूफैक्चर अमेरीका
स्वाद वनीला आइस क्रीम
प्रपत्र पाउडर
पैकेजिंग पैकेट
लक्ष्य मांसपेशियों के निर्माण,स्नायु रिकवरी
अन्य लक्षण
उत्पाद कोड / यूपीसी 748927028744
वजन बाल्टी 10.0  lb
स्वाद बेस वनीला
प्रोटीन प्रति सेवा वाली बाल्टी 24.0  g
व्हे प्रोटीन के लिए पोषण संबंधी जानकारी
Protein % per Serving 77.0  %

जानें प्रोडक्ट के बारे म
ऑप्टिमम न्यूट्रिशन गोल्ड स्टैंडर्ड 100% व्हे प्रोटीन ऐसा हेल्थ सप्लिमेंट है जो बेहद उच्च गुणवत्ता का प्रोटीन देता है जिसमें व्हे प्रोटीन आइसोलेट भी होते हैं। यह उच्च गुणवत्ता के अल्ट्रा फिल्टर्ड व्हे प्रोटीन कॉन्संट्रेट के साथ आता है, जो कि हर सर्विंग के साथ आपको देता है प्रोटीन की भरपूर मात्रा। इस प्रोटीन से आपको मसल बनाने और कठिन वर्कआउट के बाद तेजी से रिकवरी में मदद मिलती है। ऑन गोल्ड स्टैंडर्ड में हर सर्विंग के साथ आपको मिलता है 24 ग्राम व्हे प्रोटीन का फायदा, जो कि व्हे प्रोटीन आइसोलेट्स से मिलकर बना होता है। यह इसकी प्राइमरी सामग्री के रूप में होता है जिसमें सिर्फ एक ग्राम शर्करा और 1 ग्राम वसा होती है।
ऑप्टिमम न्यूट्रिनशन फिटनेस और बॉडीबिल्डिंग के लिए बेहद विश्वसनी सप्लिमेंट्स ब्रांड है। गोल्ड स्टैंडर्ड 100% व्हे प्रोटीन पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा सेवन किया जाने वाला बेहतरीन प्रोटीन सप्लिमेंट है। ऑन व्हे प्रोटीन कई स्वादिष्ट स्वादों में मिलता है।
 
फायदे
इसमें हैं शुद्ध प्रोटीन
ऑप्टिमम न्यूट्रिशन गोल्ड स्टैंडर्ड 100% व्हे प्रोटीन में नैचुरली फ्लेवर्ड व्हे है जो कि आपको ज्यादा से ज्यादा पोषण देता है और जबरदस्त वर्कआउट सेशंस के बाद तुरंत रिकवरी होती है। इसे सेवन करने से नैचुरली मिलने वाले ग्लूटामीन और ग्लूटैमिक एसिड हर सर्विंग के साथ मिलता है। ये थकाने वाले वर्कआउट सेशंस के बाद आपको स्ट्रेस से लड़ने में मदद करते हैं। इससे प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले बीसीएए (ल्यूसीन, आसो ल्यूसीन और वैलीन) हर सर्विंग के साथ मिलते हैं।
 
मसल्स की ताकत बढ़ाने में तेजी लाता है
यह आपकी बॉडी की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायता करता है और जरूरी क्षमता प्रदान कराता है। शारीरिक गतिविधि के बाद इससे आपको थकान का मुकाबला करने में सहायता मिलती है। यह बीसीएए का बहुत बड़ा सोर्स है जो कि ग्लूटामीन बनाता है। ग्लूटामीन इम्यून सिस्टम के लिए प्राथमिक ईधन की तरह से काम करता है। इसमें 5.5 ग्राम प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले बीसएए मिलते हैं और हर सर्विंग के साथ 4 ग्राम ग्लूटैमिक एसिड और ग्लूटामीन मिलते हैं। यह मसल्स में प्रोटीन के निर्माण को बढ़ाने में मदद करता है और यह सुनिश्चित करता है कि मसल्स की रिकवरी तेजी से हो।
ऑन गोल्ड स्टैंडर्ड 100% व्हे प्रोटीन से आपको पर्याप्त ऊर्जा मिलती है और इससे आपको परफेक्ट टोन्ड बॉडी मिलती है।
 
ऐसे करें इस्तेमाल
चम्मच से मिलाएं: ऑप्टिमम न्यूट्रिशन (ऑन) गोल्ड स्टैंडर्ड नैचुरल 100% तुरंत बनने वाला मिक्स है। इसका मतलब है कि अगर आप अपना शेकर कप भूल गए हैं या ब्लेंडर में चलाने का वक्त नहीं है तो बस एक गोल स्कूप में स्टैंडर्ड नैचुरल 100% व्हे को लेकर एक ग्लास में डालें। इस ग्लास में 6-8 औंस पानी या अपना पसंदीदा कोई भी ड्रिंक मिलाएं। इसके बाद इसे चम्मच से मिलाएं। जब तक यह पूरा घुल न जाए इसे चम्मच से हिलाते रहें।
टिप: आप ऑप्टिम न्यूट्रिशन गोल्ड गोल्ड स्टैंडर्ड की तीव्रता को इसमें डाले जाने वाले पेय की मात्रा को कम या ज्यादा करके बदल सकते हैं। अगर आपको स्ट्रॉन्ग स्वाद चाहिए जिसमें हल्की सी मिठास हो तो इसमें हर स्कूप के साथ 4-6 औंस पानी, दूध या अपना पसंदीदा पेय मिलाएं। अगर मध्यम स्वाद चाहिए या कम मीठा शेक चाहिए तो हर स्कूप मं 8-10 औंस पानी मिला सकते हैं।
शेकर कप: अपने शेकर कप में 6-8 औंस अपना पसंदीदा पेय मिलाएं फिर इसमें गोल स्कूप स्टैंडर्ड नैचुरल 100% व्हे डालें। ढक्कन लगाकर 25-30 सेकेंड्स तक हिलाएं।
ब्लेंडर: एक गोल स्कूप को ब्लेंडर में डालें। इसमें 6-8 औंस अपना पसंदीदा पेय डालें। इसे 20-30 सेकेंड्स तक ब्लेंड करें। अब इसमें 1 से 2 आइस क्यूब डालकर फिर से 30 सेकेंड्स तक ब्लेंड करें। इसमें फ्रोजेन फल, पीनट बटर, फ्लैक्सीड तेल, नारियल और दूसरे ऊर्जा से भरपूर पदार्थ डालें। ऐसा करके आप अपने शेक को एक हाई-एनर्जी प्रोटीन मील में बदल सकते हैं। इसमें क्रिएटिन, ग्लूटामिन, बीसीएए औऱ कॉन्संट्रेटेड कार्बोहाइड्रेट पाउडर डालकर आप और भी ज्यादा शक्तिशाली रिकवरी प्रोडक्ट बना सकते हैं।
बनाएं कुछ हटके: स्टैंडर्ड नैचुरल 100% व्हे को प्रोटीन शेक के अलावा भी दूसरी तरह से उपयोग कर सकते हैं। अपने मॉर्निंग ब्रेकफस्ट सीरियल में डाले जाने वाले ओटमील, योगर्ट या दूध में इसका एक स्कूप डालें। बेहतर होगा कि बेक किए हुए फूड्स में इसके एक या दो स्कूप डालकर मफिन्स, कुकीज, ब्राउनीज वगैरह के प्रोटीन की मात्रा भी बढ़ाएं।
 
ऐसे करें सर्व
हर दिन हर पाउंड बॉडी वेट के हिसाब से करीब 1 ग्राम प्रोटीन सेवन करें इसके साथ हाई प्रोटीन फूड्स और प्रोटीन सप्लिमेंट्स लें। बेहतर रिजल्ट के लिए पूरे दिन अपने प्रोटीन को छोटे-छोटे हिस्सों में लें। इसको ठंडी और नमी रहित जगह पर स्टोर करें।

प्रोटीन से जुड़े कुछ सवाल-जवाब

क्या मुझे व्हे प्रोटीन को दिन में किसी खास वक्त पर खाना चाहिए ?

किसी भी औसत इंसान के लिए, प्रोटीन पचने में ज्यादा वक्त लेता है। इसलिए व्हे प्रोटीन को सुबह के वक्त लेना ज्यादा सही रहता है। जहां तक व्हे प्रोटीन के अवशोषित होने की बात है तो यहा काफी तेजी से होता है तो इसे वर्कआउट के बाद लेना सबसे ज्यादा उचित होता है। इससे आपको ज्यादा से ज्यादा फायदा मिलता है। इससे इंसुलिन-अमीनो एसिड्स की साथ में क्रिया का फायदा मिलता है।

क्या कुछ प्रोटीन सोर्स दूसरों से बेहतर होते हैं ?

प्रोटीन की क्वॉलिटी अलग-अलग ड्रिंक सप्लिमेंट के हिसाब से बदल जाती है। उच्च गुणवत्ता या कंप्लीट प्रोटीन के स्त्रोत में जानवरों से मिलने वाले प्रोटीन जैसे मीट, मछली, पॉल्ट्री, अंडे, दूध, चीज, दही और व्हे प्रोटीन हैं। ये भोजन सभी जरूरी अमीनो एसिड्स प्रदान करता है जिनकी जरूरत आपके शरीर को मसल्स बनाने और मेनटेन करने के लिए होती है। यह इनके कार्य करने को भी मैनेज करते हैं। पौधों से मिलने वाला प्रोटीन जिसमें दालें, बीज, नट्स, सब्जियां और अनाज वाले पदार्थ भी शामिल हैं, इन्हें अधूरा या इनकम्प्लीट प्रोटीन कहा जाता है क्योंकि इसमें रोजाना की जरूरत के आवश्यक अमीनो एसिड्स नहीं होते।

क्या जिनको लैक्टोज इनटॉलरेंस या दूध वाले पदार्थों से एलर्जी होती है, वे व्हे प्रोटीन ले सकते हैं ?

अगर आपको लैक्टोज इनटॉलरेंस है या आप लैक्टोज (दूध से बने पदार्थों में पाई जाने वाली प्राकृतिक शुगर) के प्रति संवेदनशील हैं तो आपके लिए व्हे प्रोटीन आइसोलेट बेहतर विकल्प है। इनमें बहुत कम मात्रा में लैक्टोज होती है। व्हे प्रोटीन कॉन्संट्रेट में लैक्टोज की मात्रा ज्यादा होती है।

व्हे प्रोटीन या कैसीन, दोनों में से क्या बेहतर है ?

यह सवाल कई बार पूछा जाता है। इस बारे में बड़ा विवाद है कि दोनों में से बेहतर कौन है? यहां कुछ जानकारी है जिससे आप व्हे प्रोटीन और केसीन की तुलना कर सकते हैं। केसीन प्रोटीन कंस्टीट्यूट्स में 80% मिल्क प्रोटीन होता है। इसे इसके बेहतरीन अमीनो एसिड कॉन्टेंट के लिए जाना जाता है। इसका पाचन धीरे होता है और इसमें अपचय क्रिया के विपरीत असर होता है। इसे खाने की तरह (दूसरे प्रोटीन के साथ जोड़ा जा सकता है) इस्तेमाल किया जाना चाहिए और सोते वक्त लेना चाहिए। इसे ऐसे वक्त नहीं लेना चाहिए जब अमीनो एसिड का अवशोषण करने की कोशिश की जा रही हो। वहीं दूसरी ओर दूध में पाया जाने वाला करीब 20% दूध व्हे प्रोटीन होता है। व्हे बीसीएए (ब्रांच चेन अमीनो एसिड) का सबसे अच्छा प्राकृतिक स्त्रोत है। यह मसल्स के निर्माण के लिए सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है साथ ही इसे वजन नियंत्रित करने और अच्छे स्वास्थ्य के लिए भी पसंद किया जाता है। यह प्रोटीन निर्माण की प्रक्रिया को बढ़ाता है, प्रतिरोधी तंत्र को मजबूत करता है, ऐंटीऑक्सिडेंट ऐक्टिविटी को बढ़ता है और अवशोषण को भी तेज करता है। अवशोषण की तेज दर के लिए व्हे प्रोटीन को वर्कआउट के दौरान लेना चाहिए। एथलीट और बॉडी बिल्डर्स सामान्य तौर पर दोनों को मिला लेते हैं, प्रोटीन की जरूरत को तुरंत पूरा करने के लिए व्हे लेते हैं और कैसीन इकट्ठा करने के लिए ताकि सोते वक्त मसल्स की क्षतिपूर्ति के लिए धीरे-धीरे प्रोटीन निकलना

क्या प्रोटीन मुझे मोटा कर सकता है ?

2008 में न्यूट्रिशन ऐंड मेटाबॉलिजम में छपे एक शोध के मुताबिक, 20ग्राम व्हे प्रोटीन रोजाना लेने से 12 हफ्तों में मोटे लोगों की बॉडी का टोटल फैट 6.1 फीसदी कम हो जाता है। प्रोटीन में मौजूद अमीनो एसिड्स आपके शरीर की शर्करा नियंत्रित रखते हैं। अगर आपकी डायट कार्बोहाइड्रेट से भरपूर है तो आपके ब्लड शुगर में उतार-चढ़ाव दिखाई देते हैं। आपको कभी ज्यादा एनर्जी लगती है, भी कम और कभी भूख लगने लगती है। साथ ही अगर आप डायटिंग कर रहे हैं तो पूरा खाना खाने के बजाय, जिसमें सैकड़ों कैलरी होती है, आपको प्रोटीन शेक से 17 ग्राम प्रोटीन लेना बेहतर है क्योंकि इसमें सिर्फ 90 कैलरी होती है।

मैं शाकाहारी हूं, क्या मुझे व्हे प्रोटीन लेना चाहिए ?

एक शाकाहारी के लिए हर तरह के जरूरी प्रोटीन प्राप्त करना काफी मुश्किल काम होता है। ज्यादातर प्रोटीन रेड और वाइट मीट में पाया जाता है। प्रोटीन मछली के मांस में भी पाया जाता है लेकिन प्रोटीन का स्तर गाय और चिकेन में अलग-अलग होता है। व्हे प्रोटीन संपूर्ण प्रोटीन होता है। इसमें सभी अमीनो एसिड्स होते हैं। इसलिए शाकाहारी लोगों को व्हे प्रोटीन लेना बहुत जरूरी होता है क्योंकि उनकी प्रोटीन की खुराक सीमित होती है।

क्या मैं दूसरे सप्लिमेंट्स के साथ व्हे प्रोटीन ले सकता हूं?

हां, व्हे प्रोटीन को क्रिएटिन, ग्लूटामिन, डेक्सट्रोस, कैसीन जैसे कई दूसरे सप्लिमेंट्स के साथ लिया जा सकता है। लेकिन अगर आप व्हे प्रोटीन के साथ दूसरे सप्लिमेंट्स लेना चाह रहे हैं तो पहले किसी अच्छे ट्रेनर या डॉक्टर से संपर्क कर लें।

खरीदने से पहले जानें

शब्द व्हे का मतलब है दूध का वह भाग जो दूध को फेंटने के बाद अतिरिक्त पदार्थ के रूप में निकलता है। व्हे प्रोटीन में 20% वो प्रोटीन होते हैं जो जानवरों के दूध में मौजूद होते हैं। बाकी 80% केसीन के बने होते हैं। व्हे प्रोटीन गोलाकार के प्रोटीनों का मिश्रण होते हैं जो कि बनाने के दौरान दूध के सिरम से अलग हो जाते हैं।

व्हे प्रोटीन में सभी 9 जरूरी अमीनो एसिड्स मौजूद होते हैं। इन अमीनो एसिड के साथ बीसीएए (ल्यूसीन, आइसोल्यूसीन और वैलीन) मौजूद होते हैं। ये बीसीएए बहुत  ज्यादा मात्रा में मौजूद होते हैं। मसल प्रोटीन में मौजूद 35% जरूरी अमीनो एसिड्स के लिए बीसीएए जिम्मेदार होते हैं और 40 फीसदी पहले से बने अमीनो एसिड्स की जरूरत स्तनधारियों को होती है। ये सभी व्हे प्रोटीन को बाकी सप्लिमेंट की अपेक्षा काफी ज्यादा बायलॉजिकल वैल्यू देते हैं।

व्हे प्रोटीन के प्रकार

व्हे प्रोटीन तीन टाइप के होते हैं

कॉन्संट्रेट (डब्ल्यूपीसी): ये व्हे या दूध के सिरम के अल्ट्राफिल्ट्रेशन से प्राप्त किये जाते हैं। इस प्रकार के व्हे प्रोटीन में सामान्यता 80 फीसदी प्रोटीन होता है। बाकी का प्रोडक्ट लैक्टोस (4-8 फीसदी), फैट, मिनरल और मॉइश्चर का बना होता है।

आइसोलेट्स (डब्ल्यूपीआई): कई तरह की मेंब्रेन फिल्ट्रेशन तकनीकि से बना होता है, इसका लक्ष्य 90 फीसदी प्रोटीन कॉन्संट्रेट तक पहुंचना और लैक्टोस के हिस्से को हटाना होता है। इस तरह का प्रोटीन उन लोगों के लिए सही है जिनको लैक्टोस इनटॉलरेंस की समस्या होती है। क्योंकि इसमें फैट नहीं होता और बहुत कम मात्रा में या न के बराबर लैक्टोस होता है।

हाइड्रोलाइसेट (डब्ल्यूपीएच): इस तरह का व्हे प्रोटीन डब्ल्यूपीसी या डब्ल्यूपीआई के ऊपर एंजाइम हाइड्रोलिसिस प्रक्रिया से बनते हैं। शुरुआत में यह तरीका पेप्टाइड बॉन्ड हटाकर प्रोटीन को पहले से पचाने का काम करता है जिससे अमीनो एसिड्स के पाचन और अवशोषण का समय घट जाता है। ज्यादा हाइड्रोलाइज्ड व्हे कम ऐलर्जेनिक हो सकता है।

व्हे प्रोटीन के प्रकार और इसके उपयोग:

  • प्रकार: डब्ल्यूपीसी, डब्ल्यूपीआई, डब्ल्यूपीएच
  • प्रोटीन%: 5-89%  ,90-95%,    1-9%
  • लैक्टोस: 4-52%,  0.5-1.0%,   0.5-10.0%
  • फैट<: 1-9%,  0.5-1.0%,  0.5-8.0%

सामान्य रूप से यहां होते हैं इस्तेमाल : प्रोटीन पेय और बार्स, कन्फेक्शनरी और बेकरी, दूसरे पोषक भोज्य पदार्थों में।

प्रोटीन सप्लिमेंट पदार्थों में, प्रोटीन पेय पदार्थों में, प्रोटीन बार में और दूसरे पोषक भोज्य पदार्थों में।

बच्चों के लिए, स्पोर्ट्स और मेडिकल से जुड़े पोषक तत्वों में

उत्पादन

दूध के साथ कुछ इस तरह से प्रक्रिया की जाती है कि इसकी पीएच वैल्यू बदल जाए, केसीन जमकर अलग हो जाता है। कच्चा व्हे केसीन के ऊपर आ जाता है। इसको बाद में इकट्ठा करके कई प्रॉसेस और चरणों से गुजारा जाता है जिससे प्रोटीन की गुणवत्ता और प्रकार तय होता है। फिल्ट्रेशन के दौरान कम अणुभार वाले कंपाउंड जैसे कि लैक्टोस, मिनरल्स और विटामिन को हटाकर प्रोटीन को और ज्यादा संघनित किया जाता है। फिल्ट्र्रेशन के बाद प्रोटीन को पाश्चुराइज्ड करके वाष्पीकृत किया जाता है फिर सुखाया जाता है। सुखाने की प्रक्रिया कम तापमान पर होती है ताकि खराबी न आए।

व्हे प्रोटीन को प्रॉसेस करने के दो सबसे ज्यादा बेसिक प्रक्रियाएं ये हैं -

माइक्रोफिल्ट्रेशन/अल्ट्राफिल्ट्रेशन आयन-एक्सचेंज

यह कैसे काम करता है और क्या हैं इसके फायदे

प्रोटीन जरूरी मैक्रोमॉलिक्यूल होते हैं और सभी जीवित लोगों में कई सारे काम करते हैं जैसे- मेटाबोलिक रिऐक्सन, डीएनए रिप्लकेशन, किसी भी उत्तेजना पर प्रतिक्रिया देना, अणुओं को एक जगह से दूसरी जगह ले जाना, ऊर्जा का उत्पादन करना, कार्डियोवस्कुलर फंक्शन प्रतिरोधी तंत्र से जुड़े कार्य और कई दूसरे काम भी। प्रोटीन में अमीनो एसिड्स के स्थान में परिवर्तन होने से ये अलग-अलग तरह के होते हैं। इसलिए प्रोटीन को मसल टिश्यू का झुंड कह सकते हैं क्योंकि मनुष्य के शरीर में मसल्स में सबसे ज्यादा अमीनो एसिड्स होते हैं। व्हे प्रोटीन एक कंप्लीट प्रोटीन है जिसमें सभी 9 जरूरी अमीनो एसिड्स होते हैं जो कि आपके पूरे शरीर को स्वस्थ्य रखने में मदद करते हैं।

स्पोर्ट्स में पोषण

व्हे प्रोटीन प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला डेयरी प्रोटीन है जो कि आपकी प्रतिरोधी क्षमता मजबूत करता है, मसल रिकवरी तेज करता है और शारीरिक श्रम के पूरे फायदे को बढ़ाता है। व्हे प्रोटीन एथलीट्स को काफी अनोखे फायदे देता है जैसे -

जल्दी पचाने में मदद करे

व्हे प्रोटीन जल्दी से आत्मसात होने वाला हाई क्वॉलिटी का प्रोटीन सोर्स होता है जो कि प्रोटीन निर्माण की दर को तेजी से उत्तेजित करता है जिससे ऊतकों में प्रोटीन का फायदा होता है।

सीधे इम्यून सिस्टम की कई ऐसी अहम चोजों को बढ़ाता है जिसे शरीर को रोगों और इन्फेक्शंस से बचने में मदद मिलती है।

यह बीसीएए का सबसे उम्दा जाना-माना सोर्स होता है, जो कि ग्लूटामीन के निर्माण के प्रमुख घटक होते हैं और ये मसल्स में प्रोटीन के निर्माण को उत्तेजित करते हैं।

ये सिस्टीन का बढ़िया स्त्रोत होते हैं जो कि ऐंटीऑक्सिडेंट के निर्माण को बढ़ाता है इससे प्रदर्शन में सुधार आता है।

लिवर में ग्लाइकोजन लेवेल को बढ़ाता है जो कि किसी भी शारीरिक एक्सर्साइज के लिए सबसे अहम ऊर्जा को स्टोर करने का स्त्रोत है।

एक्सर्साइज या शारीरिक थकावट के बाद तेजी से क्षतिपूर्ति करता है।

यह बायोअवेलेबल कैल्शियम को मुहैया कराता है जो कि हड्डियों को मजबूत रखता है और फ्रैक्चर वगैरह से बचाता है जो कि ट्रेनिंग के दौरान एथलीट वगैरह को हो सकता है।

बुजुर्गों के लिए पोषण

कुछ केसों में यह उम्रदराज लोगों की यादाश्त बढ़ाने का काम करता है।

प्रोटीन की सही मात्रा लेने से बोन मिनरल का लॉस कम होता है जो उम्रदराज महिलाओं में फ्रैक्चर की सबसे बड़ी वजह होती है।

अधिक उम्र के ज्यादा वजन वाले लोगों में यह बिना मसल मास घटाए वजन कम करता है।

बढ़ती उम्र के साथ शरीर के प्रोटीन का लॉस कम करता है और इसे संरक्षित रखता है।

नवजातों के लिए पोषण

नवजातों की जीआई इम्यूनिटी को बढ़ा सकता है।

हाइड्रोलाइज्ड व्हे प्रोटीन फॉर्मुला छोटे बच्चों को पेट दर्द में राहत देता है जिससे वे ज्यादा रोते नहीं हैं।

स्वास्थ्य के लिए लाभदायक

वेट नियंत्रित रखे और बॉडी बनाए

ऑपरेशन के पहले और ऑपरेशन के बाद सर्जरी के मरीजों को वजन कम करने के लिए उच्च गुणवत्ता का प्रोटीन देता है।

यह बीसीएए और बायोऐक्टिव कंपोनेंट्स का बेहतरीन सोर्स होता है  जो कि वजन कम करने और लीन मसल टिश्यू बढ़ाने में मदद करते हैं।

वजन बढ़ने से रोकने में यह रेड मीट से भी ज्यादा कारगर होता है और इंसुलिन की संवेदनशीलता भी बढ़ाता है।

प्रतिरोधक स्वास्थ्य

सिस्टिक फाइब्रोसिस के मरीजों को जरूरी ग्लाटाथिऑन लेवेल बरकरार रखने में मदद करता है और ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस से जुड़ी बीमारियों के नकारात्मक असर को भी कम करता है।

आंत के रास्ते के लिए ऐंटीबॉडी की प्रतिक्रिया को बढ़ाता है।

बीसीएए ज्यादा मात्रा में देता है जिससे प्रतिरोधी तंत्र को ऊर्जा देने के लिए ग्लूटामिन का निर्माण होता है।

प्रतिरोधी हेल्थ को सहयोग देने के लिए ह्यूमरल (शरीर में मौजूद फ्लूड) को बढ़ाता है।

गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल (आंत) स्वास्थ्य

गैस्ट्रिक म्यूकस घावों और अल्सर के लिए सुरक्षा प्रदान करता है और ऐंटी-माइक्रोबियल वातावरण देता है।

यह बायोऐक्टिव तत्वों का बेहतरीन सोर्स है जिसमें ऐंटीमाइक्रोबियाल औऱ ऐंटी वायरल गुण होते हैं।

यह आसानी से पच जाता है औऱ इसका अवशोषण भी प्रभावी तरीके से होता है जिससे केसीन के बजाया प्रोटीन का निर्माण तेजी से होता है।

यह ऐसे प्रोटीन का बेहतरीन सोर्स है जिसे लैक्टोस इन्टॉलरेंस वाले लोग भी आसानी से पचा लेते हैं।

दिल की सेहत

यह कार्डियोवैस्कलुर रिस्क पैदा करने वाले फैक्टर्स को कम करता है जैसे कोलेस्ट्रॉल (एचडीएल वगैरह), ट्राईग्लिसराइड्स, सी-रिऐक्टिव प्रोटीन और हाइपरटेंशन।

ये लोगों का ब्लड प्रेशर कम करने में मदद करता है। एसीई को रोककर किनारे पर पहुंची हाइपरटेंशन को भी कम करता है।

हड्डियों का स्वास्थ्य

यह बायो-अवेलेवल कैल्शियम का स्त्रोत है जब इसे डेयरी के पोषक तत्वों के साथ मिलाते हैं तो यह हड्डियां मजबूत करता है।

इसमें कुछ ऐसे सक्रिय तत्व पाये जाते हैं जो हड्डियों का निर्माण करने वाली सेल्स को बढ़ावा देते हैं।

सेहत

यह प्रतिरोधी तंत्र के लिए ग्लूटाथिओन के लेवल को नियंत्रित रखता है।

यह मेटाबोलिक प्रक्रिया को भी सहयोग देता है क्योंकि इसमें मिनरल्स, फैट-सॉल्युबल विटामिन और लिपिड को बांधने का गुण होता है।

तनाव के वक्त लोगों को शांत रहने में मदद करता है (यह अल्फा-लैक्टलब्यूमिन से भरपूर व्हे प्रोटीन होता है)

आपकी स्थिति और सुरक्षा

सही तरह का व्हे प्रोटीन सप्लिमेंट चुनने में आपके सामने कुछ फैक्टर्स आएंगे जिसमें, बजट, गुणवत्ता, स्वाद, लैक्टोस पचाने की क्षमता और इसका किस मकसद से उपयोग करना है, यह भी शामिल है।

लैक्टोस इन्टॉलरेंस : अगर आपको दूध, दूध से बने हुए कोई पदार्थ से किसी भी तरह की ऐलर्जी है या आप लैक्टोस नहीं पचा पाते तो आपको व्हे प्रोटीन आइसोलेट चुनना चाहिए क्योंकि इसमें लैक्टोस नहीं होता है।

व्हे प्रोटीन किसी भी स्वाद के साथ मिल जाता है जिससे इसे कई रेसिपीज और खाने में मिलाया जा सकता है।

वजन कम करने के लिए : अगर आप वजन कम करना चाहते हैं साथ में लीन मसल स्ट्रक्चर को बरकरार रखना चाहते हैं तो आपको व्हे प्रोटीन आइसोलेट्स चुनने चाहिए।

शाकाहारी हैं  : वेजिटेरियन खाने में शरीर के जरूरत के हिसाब से प्रोटीन प्राप्त करना सबसे मुश्किल काम माना जाता है। प्रोटीन ज्यादातर रेड और वाइट मीट में पाया जाता है। मछली में भी प्रोटीन होता है लेकिन यह प्रोटीन गाय और चिकेन में पाए जाने वाले प्रोटीन से अलग होता है। शाकाहारी लोगों के लिए व्हे प्रोटीन काफी जरूरी बन जाता है क्योंकि शाकाहारी लोगों के लिए प्रोटीन की खुराक के साधन सीमित होते हैं, जो कि उन्हें सब्जियों से ही लेने होते हैं।

दूसरे : बॉडी बिल्डर्स, जिन्होंने नया-नया जिम जाना शुरू किया है, मैराथन ट्रेनर्स, एथलीट वगैरह, इन सभी को व्हे प्रोटीन की जरूरत होती है।

कैसे करें इस्तेमाल

कितना करें इस्तेमाल

इस बात का कोई नपा-तुला जवाब नहीं है क्योंकि हर किसी की प्रोटीन की जरूरत अलग होती है। प्रोटीन की जरूरत इंसान की उम्र, लिंग, वजन, मेडिकल कंडिशन और वह किस तरह का वर्कआउट करता है, इस बात पर निर्भर करती है। सबसे पहले तो यह पता लगाना जरूरी है कि आपकी कैलरी और मैक्रोन्यूट्रिएंट्स का वितरण कैसा है। बीएमआर का हिसाब लगाने के बाद हैरिस-बेनेडिक्ट सिद्धांत लगाकर आप पता लगा सकते हैं कि आपको रोजाना कितनी कैलरी की जरूरत है।

पहला चरण - ऐसे पता लगाएं बीएमआर

पुरुष

बीएमआर= 66.4730 + (13.7516 x किग्रा में वजन) + (5.0033 x सेमी में लंबाई) – (6.7550 x उम्र)

महिलाएं

बीएमआर= 655.0955 + (9.5634 x किग्रा में वजन) + (1.8496 x सेमी में लंबाई) – (4.6756 x उम्र)

दूसरा चरण हैरिस-बेनेडिक्ट सिद्धांत

यहां दी गई सारणी के हिसाब से आप यह पता लगा सकते हैं कि आपको वजन के हिसाब से रोजाना कितनी कैलरी की जरूरत है।

जो लोग थोड़ी एक्सर्साइज करते हैं या करते ही नहीं हैं उन्हें बीएमआर x1.2 के बराबर कैलरी की जरूरत होती है।

हल्की एक्सर्साइज करने वाले (1 से 3 दिन हर सप्ताह) उन्हें बीएमआर x1.375 कैलरी की जरूरत होती है।

मध्यम एक्सर्साइज करने वाले (जो हफ्ते में 4 से 5 दिन करते हैं) उन्हें रोजाना बीएमआर x1.55 कैलरी की जरूरत होती है।

ज्यादा एक्सर्साइज करने वालों (हफ्ते में 6 से 7 दिन) को रोजाना बीएमआर x1.725 कैलरी की जरूरत होती है।

बहुत ज्यादा एक्सर्साइज करने वाले को (एक दिन में दो बार, ज्यादा ही थकाने वाला वर्कआउट) रोजाना बीएमआरx1.9

कब करें इस्तेमाल

बेहतरीन परिणाम तब मिलते हैं जब आप व्हे प्रोटीन को सुबह वर्कआउट के बाद लेते हैं। अगर आप रोजाना एक्सर्साइज करते हैं तो बेहतर होगा कि वर्कआउट के तुरंत बाद आप प्रोटीन शेक लें। नेशनल स्ट्रेंथ ऐंड कंडिशनिंग असोसिएशन में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक हर वर्कआउट के बाद कम से कम 15 ग्राम प्रोटीन लेना चाहिए। एक्सर्साइज के बाद आपका शरीर इंसुलिन के प्रति काफी संवेदनशील होता है और प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट को फैट सेल्स के बजाय मसल्स सेल में इधर-उधर करता रहता है। यह संवेदनशीलता वर्कआउट के 2 घंटे बाद तक घट जाती है और उस वक्त ये बेसलाइन पर पहुंच जाता है।

इसके साथ इंसुलिन का उपचयक प्रभाव अमीनो एसिड के साथ तारतम्य में होते हैं। व्हे के तेजी से अवशोषण होने के गुण को देखते हुए यह वर्कआउट के बाद इंसुलिन और अमीनो एसिड के एक साथ असर का फायदा लेने के लिए एकदम सही चुनाव है।

कैसे स्टोर करें

व्हे प्रोटीन को ठंडी और सूखी जगह रखना बेहद जरूरी है। व्हे प्रोटीन गर्मी या उच्च तापमान से खराब हो सकता है। गर्मी में खराब हुए व्हे से कई लोगों को एलर्जी हो सकती है।

ऐलर्जीस

इससे फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन सा व्हे प्रोटीन चुन रहे हैं, इसका लेबल ध्यान से पढ़ना न भूलें। कोई नया डायट सप्लिमेंट प्रोग्राम शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लेना न भूलें। तीनों व्हे प्रोटीन में कई अतिरिक्त पदार्थ होने की वजह से यह जानना जरूरी है कि आपका शरीर क्या पचाने में सक्षम है या आपको किसी चीज से एलर्जी तो नहीं है।

- बीएसए (बोवाइन सीरम एलब्यूमिन) को आईडीडीएम के लिए उत्तेजक माना जाता है। कुछ शोधों में यह पाया गया है कि जिन बच्चों में आईडीडीएम विकसित हो रहा उनके सीरा में ऐंटी बीएसए ऐंटीबॉडीज पाई जाती हैं। हालांकि दूसरी स्टडीज में आडीडीएम बच्चों में ऐंटी बीएसए सीरा की मात्रा ज्यादा नहीं देखी गई। इस तरह से आडीडीएम बढ़ने में बीएसए का क्या रोल होता है यह बात साफ नहीं है।

- किडनी खराब होना। रिसर्च किडनी खराब होने की बात का समर्थन नहीं करती हैं। हालांकि कुछ रिसर्च में ज्यादा प्रोटीन लेना मना है (प्रति किलो बॉडी वेट के हिसाब से रोजाना 2 ग्राम से कम)

- ज्यादा व्हे प्रोटीन लेने से पानी की कमी होने का खतरा रहता तहै।

- कैल्शियम क्षय होने का खतरा भी रहता है। ज्यादा मात्रा में प्रोटीन लेने से एसिड का उत्पादन बढ़ जाता है। बढ़े हुए एसिड लोड के चलते हड्डियों से  कैल्शियम बफर के रूप में निकलता है।

आप कितना प्रोटीन ले रहे हैं इसका ध्यान रखकर और जिन खानों से आपको एलर्जी है उनसे दूर रहकर आप इन साइड इफेक्ट्स को आसानी से दूर कर सकते हैं।

अगर किसी व्हे प्रोटीन की थोड़ी सी मात्रा से भी आपको लगातार पेट या गेस्ट्रो की शिकायत हो रही है तो आप दूसरा प्रोटीन सप्लिमेंट या इसके साथ दूसरे डायजेस्टिव एंजाइम मिलाकर लें।

इस उत्पाद का विवरण उपयोगी था?हाँ नहीं
अस्वीकरण:सूचना और उत्पाद के बारे में बयान / सेवाओं खाद्य एवं औषधि प्रशासन या किसी सरकारी प्राधिकरण द्वारा मूल्यांकन नहीं किया गया है और, निदान करने के लिए इलाज, इलाज, या किसी भी बीमारी को रोकने का इरादा नहीं। उत्पाद / सेवा समीक्षा उनके व्यक्तित्व, अनुभवों और विचारों के आधार पर उपयोगकर्ताओं द्वारा प्रदान की जाती हैं, और HealthKart की राय को प्रतिबिंबित नहीं करते। उत्पाद / सेवा HealthKart पर विक्रेता द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी संपूर्ण नहीं है, कृपया लेबल उत्पाद पर ध्यान से निर्माता द्वारा प्रदान की पूरी जानकारी के लिए पढ़ें। उत्पादों के परिणामों को हर व्यक्ति के लिए अलग अलग होंगे। कोई व्यक्तिगत परिणाम ठेठ के रूप में देखा जाना चाहिए

रेटिंग और समीक्षा

प्रो सारांश (मूल्यांकन 312 आधार पर)

4
स्वाद
4.4
मिश्रण
4.3
प्रभावोत्पादकता
3.9
पैसे की कीमत
दिखा रहा है 1-5 के 39 समीक्षा(रों) के वनीला आइस क्रीम स्वाद
Verified BuyersAll Reviews
Sort:
  • On Gold Standard Is Not Available In 1 LBS

    On Gold Standard is the best whey protein, but it is not available in 1 LBs. If you buy 1 LB ON Whey Protein then Gold Standard will not be written on it. Difference is only 1 GM protein which is 24 gms in Gold Standard and 23 Grams in ON Whey protein. My question is how healthkart is selling Gold Standard in 1 LBs.

    Was this review helpful? Yes 91
  • Pro Summary
    Taste
    Mixability
    Efficacy
    Value for money
    Good One

    Hi Guys! USA product will always have there standards. this one is really a good product, i can see a dramatic changes in muscle developing. but only the drawback is the cost, each and everyday the price is getting increase.Taste wise good, mix wise good, results are also good. you can choose it, if you have a enough money to spend on this. we have Muscle Blaze who are giving the same level of protein's, with lost cost, you can choose that instead spending all your money in ON.

    Was this review helpful? Yes 2
  • excellent

    Excellent.. I've tried a couple of other whey but optimum nutrition whey I'll give a 5 star.. most recommend for hard core workouts..

    Was this review helpful? Yes 2
  • Pro Summary
    Taste
    Mixability
    Efficacy
    Value for money
    The Best Whey

    if you're looking for lean physique and better everything just go for it. it's my fourth optimum nutrition Gold Standard and I love ON. Those who say it didn't work maybe didn't train well or maybe they did not exercise diet control. Mixes well, good taste and it's best in it's segment.

    Was this review helpful? Yes 1
  • Vanilla Ice Cream!!!

    This is easily the best value whey out there. Mixes great, the Vanilla Ice Cream tastes pretty great as well.

    Was this review helpful? Yes 1

Your recently viewed products

    You have no recently viewed items

    Speak To A Fitness Expert

    I agree to receive updates from HealthKart.com in future through Phone and E-Mails.