5 व्यायाम जो घातक हो सकते हैं

3939 views 1 comment
क्या सभी व्यायाम आपके लिए फायदेमंद है? काश इस सवाल का जवाब हाँ होता, पर दुर्भाग्य से ऐसा नहीं है। व्यायाम के सभी मूव्स को एक जैसा नहीं माना जा सकता है, कुछ व्यायाम फायदे से ज्यादा नुकसान पहुंचा सकते हैं। आश्चर्य? सच्चाई जानने के लिए आगे पढ़िए!

शरीर को सक्रिय और गतिशील रखने के लिए व्यायाम संपूर्ण रूप से सबसे बेहतरीन क्रिया है। लेकिन अगर आपको लगता है कि सभी प्रकार के व्यायाम आपके लिए लाभप्रद है तो यकीन मानिए आप पूरी तरह से गलत है। कुछ व्यायाम, खासतौर पर उसे क्रियान्वित करते वक्त गलत मूव आपके शरीर के लिए घातक हो सकते है। 

इसलिए, जिम में 400 पाऊंड डेडलिफ्ट ऊठाने का दिखावा करने के बजाय आप सुरक्षात्मक और व्यवहारीक व्यायाम करें, नहीं तो अंतत: आप खुदको घायल कर लेंगे या फिर शरीर में अन्य समस्याएँ उत्पन्न हो जाएँगीं।

जिम में आपको कोई भी शारीरिक नुकसान ना हो इसके लिए हम आपके लिए बता रहे हैं ऐसे 5 व्यायाम जिसे करने से आपको नुकसान हो सकता है। 

मशीन लेग एक्सटेंशन्स 

आप जब बैठे होते हैं तो कितनी बार अपने पांव को आगे की ओर किक करते हैं? संभवत: एक भी बार नहीं। इसलिए आप ऐसा जिम क्यों में करते हैं? जिम में लेग एक्सटेशन्स करने से कोई कार्यात्मक फायदा नहीं होता है, क्योंकि इस व्यायाम में आपके पांव की गतिविधि नेचुरल नहीं होती जैसा की आप जिम के बाहर करते हैं। यही नहीं, आपके घुटने इस प्रकार नहीं बने हैं और ना हीं इस एंगल में बने जिससे की आप वजन ऊठा सके। ऐसा करने से आपको घातक चोट पहुंच सकती है। अगर आपको लगता है कि आपके घुटने स्वस्थ है, तो इस तरह के व्यायाम जो कार्यात्मक भी नहीं है, उसे करके रिस्क लेना कोई बुद्दिमानी नहीं है।

मशीन लेग एक्सटेंशन्स की जगह आप स्क्वाट्स, डेडलिफ्ट्स, लंग्स और स्टेप -अप्स व्यायाम कर सकते हैं जो आपके क्वॉड्ज़ के लिए काफी फायदेमंद हो सकते हैं। क्वॉड्ज़ के अलावा ये व्यायम आपके ग्लूट्स और हैम्स्ट्रींग्स को मजबूत बनाते हैं|

मशीन लेग एक्सटेंशन्स

बिहाइंड-द-हेड लैट पुल्डाउन्स

‘बिहाइंड-द-हेड लैट पुल्डाउन्स’ एक ऐसा व्यायाम है जिसे आपको कभी नहीं करना चाहिए। जब कभी भी आप लैट पुल्डाउन्स को करते हैं उस वक्त भार हमेशा आपके शरीर के सामने होना चाहिए। अगर आप बार के प्लेसमेंट के साथ रचनात्मकता दिखाने की कोशिश करते हैं तो निश्चित रूप से आप कंधे की चोट को निमंत्रंण दे रहे हैं। बार को नीचे खिचतें वक्त इसे सिर के पीछे रखने या गर्दन के पास रखने से आपके कंधे के ज्वाईंट्स पर बहुत अधिक दबाव और तनाव बनता है जिससे गर्दन चोटिल होने की संभावना बढ़ जाती है। क्योंकि पुल्डाउन्स आपके मेन मूव को बांध देता है, इसलिए बार को कॉलर-बोन के तरफ रखते वक्त ध्यान दें। बार को सीने की तरफ  लाने की कोई जरूरत नहीं है उसकी जगह आप अपने शरीर को बार की तरफ करें।      

बिहाइंड-द-हेड लैट पुल्डाउन्स

स्मिथ मशीन स्क्वाट्स

कुछ लोग सोचते होंगे कि स्मिथ मशीन रेग्युलर स्क्वाट रैक एक सुरक्षित विकल्प है, पर सच यह है कि यह हमेशा से सबसे नुकसानदायक व्यायमों में से एक रहा है। जब आप स्मिथ मशीन उपयोग करते समय खुदको स्क्वाट की ओर झूकाते हैं, तब आपकी पीठ सीधी और जमीन की ओर लंबवत हो जाती है  जिससे आपके वर्टेब्रे पर दबाव और खिंचाव आ जाता है। यहीं नहीं क्योंकि आप बार की ओर स्मिथ मशीन का इस्तेमान करने के लिए झूकते हैं, इसलिए आप घुटने, ग्लूट्स और हैमस्ट्रिंग्स पर ज्यादा दबाव देते हैं और इनका आपस में कॉट्रैक्ट भी नहीं हो पाता, परिणामस्वरूप ट्रेनिंग का उद्देश्य पूरा नहीं हो पाता है।  

बॉडी वेट और वेटेड स्कवाट्स, स्मिथ मशीन से कहीं बेहतर होते हैं क्योंकि ये आपके शरीर के नीचले भाग को संपूर्ण, कार्यात्मक और प्रभावीरूप से ट्रेन करता है, इसमें सबसे खास बात यह है कि ये व्यायाम आपके ज्वाईंट्स पर गैरजरूरी दबाव नहीं डालता। 

स्मिथ मशीन स्क्वाट्स

ट्राईसेप डिप्स

ट्राईसेप की पूरी परिकल्पना इसी पर टिकी है कि यह ट्राईसेप को ट्रेन करता है, पर आप असानी से ज्यादा वजन ऊठाने के चक्कर में पड़कर कंधे और रोटेटर को नुकसान पहुँचातें हैं । अपने अपर आर्म्स से शरीर का वजन ऊठाने से आपके टोर्सो के चोटिल होने की संभावना बढ़ जाती है। कहीं एक बार आपके ये मसल चोटिल हो गए तो आप दिनचार्या के कार्य भी नहीं कर पाएंगे, यहां तक की अपने बाल धोना भी एक कठिन कार्य हो जाएगा। 

अगर आप वास्तव में अपने ट्राईसेप को बेहतर बनाना चाहते है तो आप अपने आर्म्स को अपने शरीर के सामने रखें। उसके बाद आप केबल पुशडाऊन्स, क्लोज़ ग्रिप बेंच प्रेस और ट्राईसेप्स पुशअप्स जैसे व्यायाम करें। एडवांस बॉडी-बिल्डींग के लिए यह एक बेहतरीन विकल्प है।

ट्राईसेप डिप्स

बिहाईन्ड द नेक शोल्डर प्रेस

बिहाईन्ड द नेक शोल्डर प्रेस के साथ सबसे बड़ी समस्या बिहाईंन्ड हेड पुल्डाउन्स जैसी ही है। इस व्यायाम में भी आपको मूवमेंन्ट के लिए अपने कंधे को अत्याधिक घुमाना पड़ता है जिससे आपके कंधे वैसी स्थिति में चले जाते हैं जहां कप के मसल्स में समस्या आ सकती है। इसके अलावा, यह जरूरी नहीं है कि सभी के कंधे का लचीलापन एक जैसा हो जिससे की जरूरी स्ट्रेटलाइन मूवमेंट बन सके। बॉडीबिल्डींग में सिर को आगे की ओर झूकाने की जरूरत होती है ताकि बार को पीछे किया जा सके और इस तरह चोटिल होने की संभावना और भी बढ़ जाती है। 

इसके जगह पर आप कंधे के व्यायाम के लिए मिलिटरी प्रेस और डम्बल प्रेस पर ज्यादा ध्यान दें।

 

बिहाईन्ड द नेक शोल्डर प्रेस

अब आपको जिम के अंदर सबसे नुकसानदायक व्यायमों की पर्याप्त जानकारी हो गई है, आप पक्का कर लें की जब अगली बार जिम जाए तो ये गलतियां ना करें।

 

Your Next Read

Ask your question