ग्रीन कॉफी बीन: तथ्य और इसके लाभ

5862 views
ग्रीन कॉफी बीन के वजन घटाने के गुणों के संदर्भ में पहले ही बहुत अधिक कहा और लिखा जा चुका है, लेकिन आम लोगों के लिए अभी भी यह एक उलझा सवाल है जिसका हल ढूंढना अभी बाकी है। आज हम इस वजन कम करने के नए फार्मूले के असर पर एक नज़र डालेंगे।

वजन कम करने के लिए प्राकृतिक सप्लिमेंट जैसेकी गार्सीनिया कैम्बोजिया बहुत लम्बे समय से बाजार में उपलब्ध है। इन सप्लिमेंट्स की प्राकृतिक रूप से वजन कम करने और दूसरे कई सारे स्वास्थ्य संबधित लाभ की वजह से प्रशंसा की गई है जबकि कुछ सप्लिमेंट्स के प्रभावी रूप से सेहत पर होने वाले घातक नुकसान के बारे में विस्तार से भी लिखा गया है।     

ग्रीन कॉफी बीन वजन कम करने वाले प्राकृतिक सप्लिमेंट वर्ग में नवीनतम नाम है और इसे उन लोगों से सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली हैं जिन्हों ने वजन कम करने के लिए इसका सेवन किया है। पर क्या यह कहानी का एक मात्र पक्ष है? या इसके और भी पक्ष हैं जिनके बारे में आपको ग्रीन कॉफी का उपयोग वजन कम करने के लिए करने से पहले जानना चाहिए। चलिए सबसे पहले यह जानने की कोशिश करते हैं कि ग्रीन कॉफी दरअसल है क्या? इसके साथ कौन-कौन से तथ्य जुड़े हुए हैं? क्या यह सचमुच में वजन कम करने में सहायक है? और इसके दूसरे स्वास्थ्य संबधित प्रभावी लाभ क्या हैं?

ग्रीन कॉफी बीन क्या है?

कॉफी पीने से स्वास्थ पर होने वाले लाभ पर काफी लंबे समय से बहस होती आ रही है जिसमें कि रिसर्चर्स ने कई विचार दिए हैं और अध्ययनों में भी यह स्पष्ट किया गया है कि प्रसिद्ध ब्रु कॉफी से स्वास्थ पर लाभ होता है या नुकसान, लेकिन इस विषय पर अंतिम निष्कर्ष आज भी विवाद का विषय है। ग्रीन कॉफी बीन वजन कम करने के लिए एक सप्लिमेंट के रूप में सबसे पहले तब सामने आया जब 2012 के “द डा. ऑज़ शो” में इसके बारे में बताया गया। तब से इसके प्रभाव पर विवादित बहस जारी है।

ग्रीन कॉफी बीन एक्सट्रैक्ट दरअसल एक ग्रीन कॉफी बीन है जो कि रोस्टेड बीन की तरह नहीं होती है। ये कॉफी बीन क्लोरोजेनिक एसिड नामक तत्व का एक उत्तम श्रोत है जिसके बारे में माना जाता है कि इसमें एंटीऑक्सिडेंट की प्रॉपर्टी मौजूद होती हैं। एक बार जब इन बीन्स को भुजा जाता है तब इनमें मौजूद क्लोरोजेनिक एसिड की मात्रा बहुत कम हो जाती है। इसलिए ऐसा माना जाता है कि कॉफी पीने से यह वजन कम करने में उतना असरदार नहीं है जितना की बिना भुजी बीन्स का सिधा सेवन करने से होता है। 

वजन कम करने के अलावा ग्रीन कॉफी डायबिटीज नियत्रंण रखने, हाई ब्लड प्रेशर, अलज़ाइमर की बीमारी और जीवाणु इनफेक्शन्स कंट्रोल करने में सहायक होता है। 

ग्रीन कॉफी

Image Source: www.aloenutrition.com

ग्रीन कॉफी बीन एक्ट्रैक्ट के लाभ

बहुत सारे अध्ययनों में ग्रीन कॉफी पॉउडर और साथ ही ग्रीन कॉफी कैप्सुल से स्वास्थ्य पर होने वाले लाभ के बारे में बताया गया है। दरअसल ज्यादातर स्वास्थ्य से संबधित लाभ इसमें मौजूद दो प्रमुख तत्वों कैफिन और क्लोरोजेनिक एसिड से होते है जबकि दूसरे कई लाभ इसमें मौजूद कम्पाउंड और फैक्टर से प्रभावित होते हैं। ग्रीन कॉफी एक्ट्रैक्ट से होने वाले कुछ प्रमुख स्वास्थ्य लाभो के बारे में यहां उल्लेख किया गया है।

वजन कम करने के लिए ग्रीन कॉफी: बीएमसी कॉम्प्लिमेंटरी और अल्टरनेटिव मेडिसिन के मार्च 2006 में प्रकाशित एक अध्ययन में बताया गया था कि ग्रीन कॉफी बीन या एक्ट्रैक्ट के प्रतिदिन सेवन करने से शरीर में मौजूद मोटापा कम होता है साथ ही लीवर में मौजूद मोटापा भी कम होता है। इसी प्रकार का प्रयोग दूसरे समूह पर किया गया जिने अलग से क्लोरोजेनिक एसिड्स और कैफिन का सेवन करने के लिए दिया गया, और इस बार भी परिणाम वही थें। इस प्रकार यह निष्कर्ष निकाला गया कि यह दो तत्व जो ग्रीन कॉफी बीन में मौजूद हैं वे वजन कम करने में सहायक है।

ऊच्च रक्तचाप नियंत्रण: ग्रीन कॉफी बीन में मौजूद क्लोरोजेनिक एसिड ऊच्च रक्तचाप को काफी हद तक नीचे कर सकता है।
क्लिनिकल एंड ऐक्सपेरिमेंटल हाईपरटेंशन के 2006 में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार ऊच्च रक्तचाप से ग्रसित मरीजों को 140 एमजी कॉफी बीन एक्ट्रैक्ट सेवन करने के लिए दिए गए जिनमें सकारात्मक परिणाम निकलें और अध्ययनकाल में रक्तचाप नीचे आ गया। साथ ही उस दौरान कोई साइड इफैक्ट भी नहीं पाये गये, इस प्रकार यह निष्कर्ष निकाला गया कि ग्रीन कॉफी बीन सुरक्षित रूप से ऊच्च रक्तचाप को नियंत्रित कर सकता है।

ग्रीन कॉफी के लाभ

एंटीऑक्सिडेंट लाभ: ग्रीन कॉफी बीन और इससे जुड़े पदार्थ मल्टीपल एंटीऑक्सिडेंट प्रॉपरर्टीज़ के लिए जाने जाते हैं जो कि शरीर में सेल डैमेजिंग फ्री रेडिकल के हानिकारक प्रभाव को कम करता है। इसके अलावा ग्रीन कॉफी में मौजूद क्लोरोजेनिक एसिड कम से कम चार तरह के कैंसर सेल्स को फैलने से रोकता है इसलिए ग्रीन कॉफी के बारे में माना जाता है कि इसमें कैंसर को रोकने वाली प्रोपर्टीज़ भी मौजूद है।

ग्रीन कॉफी के प्रभावी साइड इफैक्ट्स

दरअसल अभी तक किसी भी अध्ययन में पक्के तौर पर ग्रीन कॉफी बीन एक्सट्रैक्ट्स के साइट इफैक्ट सामने नहीं आएं हैं लेकिन इसमें कैफिन की मात्रा बहुत अधिक होती है जिसके माध्यम से तीव्र साइड इफैक्ट्स हो सकते हैं। कैफिन के कुछ सामान्य साइड इफैक्ट्स जो अत्यधिक ग्रीन कॉफी के पीने से होते है, निम्न हैं:

  • पेट खराब होना 
  • दिल की धड़कन बढ़ना
  • बार-बार पेशाब लगना
  • अनिंद्रा
  • बेचैनी
  • घबराहट
ग्रीन कॉफ़ी कैप्सूल

Image Source: www.al3loom.com

अंतिम निर्णय

ग्रीन कॉफी बीन का शरीर के वजन कम करने और दूसरी समस्याओं पर प्रभाव का कोई सटीक निष्कर्ष नहीं है। हम यह निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि इस विषय पर और अध्ययन की जरूरत है। अच्छा यह होगा और यह सलाह भी दी जाती है कि आप विभिन्न अध्ययनों के द्वारा वजन कम करने के लिए सप्लिमेंट्स की जानकारी हासिल करें। ग्रीन कॉफी एक्ट्रैक्ट को ऑन लाइन खरीदने से पहले ग्रीन कॉफी के रिव्यू अवश्य पढ़ें और इसे हमेंशा विश्वासपात्र वेबसाइट से ही खरीदें। 

इसके अतिरिक्त, यह भी सलाह दी जाती है कि आप अपने डाइट में वजन कम करने के लिए किसी सप्लिमेंट को जोड़ने से पहले अपने फिज़िशियन की राय अवश्य लें।  

जब तक की ग्रीन कॉफी बीन के शरीर के वजन पर पड़ने वाले प्रभाव पर संशय समाप्त नहीं हो जाता, आप प्राकृतिक रूप से वजन कम करने के लिए हरी चाय की चुस्की ले सकते हैं।

Your Next Read

Ask your question