क्या ज्यादा सोचना फिटनेस के लिए हानिकारक है?

831 views
एडवांस बॉडीबिल्डिंग जटिल होती है इसलिए आपको हर जगह इससे संबधित लेख मिल जाएंगे जो बॉडीबिल्डिंग के सूक्ष्म से सूक्ष्म पक्ष पर रौशनी डालती है। अपने शरीर को सही आकार में रखना दरअसल आसान है। चलिए इसे और आसान बनाएं।

अगर आप पिछले पांच साल या उससे अधिक समय से लागातार व्यायाम कर रहे हैं तभी और केवल तभी आप एडवांस श्रेणी में आ सकते हैं और आप एडवांस्ड बॉडीबिल्डिर व्यायाम का अनुसरण कर सकते हैं। दूसरो के लिए हम इसे कई भाग में बांटते है पर अच्छे स्वास्थ के व्यायाम आसान है। आपकों लगातार ट्रेनिंग, संतुलित पौष्टिक आहार प्लान और संपूर्ण सोने की जरूरत होती है। दरअसल यह सचमूच आसान है। अब, आपको सुडौल शरीर की आवश्यकता क्यों है? 

इस सवाल का जवाब नहीं मिल सकता है क्योंकि हर व्यक्ति के लिए इसका जवाब अलग होगा। हमने अपने पहले के लेखों में ही व्यायाम शुरू करने की कुछ वजहों का जिक्र किया है। शरीर को सुडौल आप अपने लिए, अपने प्रियजनों के लिए करते है।  लोगों का आपके प्रति आकर्षण और सुडौल बने रहने की चाह अच्छे स्वास्थ के कई करणों में से एक है। आपकी चाहे कोई भी वजह हो पर सबसे महत्वपूर्ण है की आप व्यायाम शुरू करे और तब तक हार ना माने जबतक की आप अपने लक्ष्य को प्राप्त ना कर लें।

शरीर को सुडौल बनाने का कारण या लक्ष्य व्यक्ति विशेष पर निर्भर करता है। इससे बढ़कर इसका अभिप्राय यह है कि कुछ लोगों के लिए यह सिक्स पैक्स बनाना हो  सकता है तो कुछ लोगों के लिए कुछ किलो वजन कम करना। फिरसे कारण जो भी हो चीजो को आप ज्यादा जटिल ना करें बल्कि व्यायाम की शुरूआत करें। अपने पीछे एक प्रशिक्षक को रखना और जिम जाना शुरू करना दरअसल अपका पहला कदम है चाहे आप जिम में कोई भी व्यायाम करें|

Image Source: www.themindunleashed.com

ज्यादा सोचने की प्रक्रिया

समस्या यह है कि लोग बहुत सारे छोटे छोटे लक्ष्यों के चक्कर में फंस जाते है और सबसे बड़ा लक्ष्य जिसके लिए वह व्यायाम शुरु किया है उससे ध्यान बंट जाता है। इसका मतलब है कि बॉडीबिल्डर्स यह फैसला नहीं ले पाते है कि वे मसल्स विकसित करना या मोटापा कम करना या प्रोटीन को बढ़ाना या वजन बढ़ाना चाहते हैं। आप बात को समझ गए होंगे कि जो भी लक्ष्य आपके है आपको उसी अनुसार परिणाम दिखेंगे।

जब बात वजन कम करने की हो तो खेल उसी तरह का हो जाता  है। मुझे कितनी कैलोरी, कितनी प्रोटीन या फैट या कर्ब्स लेनी चाहिए? क्या मुझे कभी -कभी उपवास रखना चाहिए या नहीं? अधारभूत नियम जो याद रखने चाहिए वे यह हैं कि जब बात पौष्टिक्ता की आए जिसे एक व्यक्ति को ज्यादा या कम खाना चाहिए इस बात पर निर्भर करता कि वह व्यक्ति वजन बढ़ाना चाहता है या वजन घटाना। दूसरा अधारभूत थम्ब रूल जिसे मानना चाहिए वह हैं मैक्रोन्युट्रियंट अनुपात या प्रोटीन, कर्ब्स और वसा की कितनी मात्रा खानी चाहिए है। एक व्यक्ति को 40-40-20 के अनुपात का पालन करना चाहिए। इसका अभिप्राय यह हुआ कि प्रोटिन में से 40 प्रतिशत कैलोरी, कर्ब्स में से 40 प्रतिशत और वसा में से 20 प्रतिशत का सेवन करना चाहिए। सभी मैक्रोन्युट्रियंट के लिए सबसे साफसुथरा श्रोत भोजन है। हॉ, हमे पता है कि न्युट्रिशन एक कठिन खेल है, लेकिन आपने अगर अभी अभी शुरू किया है तो बताए गए तीनों नियमों को मानना चाहिए।

ज्यादा सोचना और एडवांस्ड बॉडीबिल्डिंग के टिप्स में पड़ जाना आकलन करने की क्षमता को पैरालाइजिस कर देता है। यह आपके आत्मविश्वास/प्रेरणा को कई सारी वजहों से निर्बल कर देता है। सबसे पहले तो आपको बहुत सारे विकल्प इंटिमिडेट कर सकते  है। ज्यादातर लोग नए ट्रेनिंग और नए डाइट पर जोर नहीं देते हैं। उन्हें बस परिणाम चाहिए। इसे आसान रखे वास्तव में यह इतना कठिन नहीं है।

Image Source: www.8-tracks.com

सही मानसिकता बनाम अनियंत्रित चाह

लक्ष्य को हासिल करने के लिए आपकी सही मानसिकता ही बहुत जरूरी है। बहुत लोग हम से पूछते है कि 2 सप्ताह में प्लेन पेट कैसे हासिल करें या एक महिने में  कैसे एक निश्चित वजन कम करें। यह संभव नहीं है चाहे आप हमारे बताए गए नेचुरल बॉडीबिल्डिंग गाइड का पालन कर रहे है या नहीं। मेरा विनम्र विचार यह है कि 5 मिनट में ऐब्स और 10 मिनट में फैट कम होना बकवास की बात है। यहां सबसे महत्वपूर्ण बात नोट करने की यह है कि हम सबको हर फायदा तुरंत चाहिए। यही वजह है की स्टेरोइड का इस्तेमाल धड़ल्ले से हो रहा है जबकि इसका कुप्रभाव सेहत पर बहुत अधिक होता है। अच्छे सेहत के लिए अनियंत्रित चाह को सही नहीं माना जाता है। इस यात्रा में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की पूरी प्रक्रिया के पालन के बात आपको कैसा परिणाम मिलता है।

इसके अलावा, कुछ मौजूद एडवांस मसल्स बिल्डिंग वर्कआउट और ऊपर से बहुत सारे एडवांस वर्कआउट प्लांस मौजूद है। शुरूआत करने वालों को लगातार ट्रेनिंग कंपाऊड मूवमेंट्स के साथ करने की जरूरत होती है। पौष्टिक्ता के लिए कैलोरी की गिनती करें और मैक्रोन्युट्रियन्ट रेसिओ का पालन करें। साथ ही साफ सुथरा श्रोत जैसे- प्रोटीन के लिए चिकन ब्रेस्ट, कार्बोहाईड्रेड के लिए शकरकंद और पौष्टिक वसा के लिए जैतून के तेल का सेवन करें। सबसे महत्वपूर्ण बात जिसे आपको ध्यान देना चाहिए कि अच्छी नींद को कम ना आंके। 7-8 घंटे की नींद आपके मसल्स को रिकवर करती है|

Your Next Read

Ask your question