स्टेरॉइड का दुर्पयोग या मूर्खता?

572 views
हम सब स्टेरॉइड और उसके कुप्रभाव के बारे में बात कर चुकें हैं। हम इस पर गहन चिंतन कर इस बात को समझ चुकें है कि स्टेरॉइड आपको खूबसूरत तो बनाता है पर इसके हार्मोनल प्रभाव भी हैं। फिर क्यों प्रो-बॉडीबिल्डर गर्भवती महिला जैसे पेट के साथ चलते हैं?

डिसटेंडेड गट क्या है?

आप जल्दबाजी में किसी मुहिम का हिस्सा बनें और ना ही यह कहें कि स्टेरॉइड आँतो को जला देगा। प्राथमिकता अनुसार इसे समझते हैं।  यहां पर जलने से अभिप्राय दरअसल पेट को पीछे की ओर खींचने की असमर्थता से है।  जब वे आराम से बैठते हैं तब उनके पेट के ऐब्स बाहर आ जाते है और ऐसा लगता है मानो वे गर्भवती है और उनके पेट के साथ अतिरिक्त मांस जुड़ा हआ हैं!

डिसटेंडेड गट की वजह से कई नुकसान हो सकते है, यहां हम संक्षेप में इसका वर्णन करते हैं।  इनमें से कुछ यहां हैं: 

·    डाइरेटिक्स और कैर्ब लोडिगं के दुर्पयोग
·    हर्मोन विकास के दुर्पयोग
·    पेट की मांसपेशी का विस्तार
·    ड्रग के इस्तेमाल को मैनेज करने की असमर्थता

यह समस्या इतनी प्रबल है कि भूतपूर्व गवर्नर ऑर्नॉल्ड श्वॉर्ज़नेगर ने कई साल पहले एक बार ऑर्नॉल्ड क्लासीक बॉडीबिल्डर्स की प्रतियोगिता का आयोजन किया था, जिसमें इम मुद्दे पर ऑर्नॉल्ड ने जिम मैनिंग और दूसरे प्रमोटर्स मि. ऑलीम्पिया प्रतियोगिता और आईएफबीबी ऑर्गनाईजेशन पर आरोप लगाये।

ऑर्नॉल्ड के दौर से ही सबसे ज्यादा जोर महिलाओं और पुरूषों के शरीर को बढ़ाने पर रहा।  असल में मसल्स मांस बढ़ाने के चक्कर में कई ऐसे प्रभाव पड़ते है जिससे शरीर का अंदरूनी संतुलन बिगड़ता है और बॉडीबिल्डिंग  की दुनिया में यह ना ऑर्नॉल्ड और ना हीं कोई दूसरा व्यक्ति चाहता है। आप खुद से भी यह सवाल करें। जब आप पत्रिका पढ़ने के लिए ऊठाते हैं तब आपकी भी चाह बॉडीबिल्डर और ऐथलिट्स की तरह शरीर बनाने की होती होगी? मुझे पता है मुझे क्या चाहिए! चलिए नज़र डालते हैं कुछ ऐसे कारणों पर जिसकी वजह से बॉडीबिल्डिंग के दौरान यह गट विभिन्न स्टेजेस पर जन्म लेते है|

डिसटेंडेड गट

Image Source: www.youtube.com

डाइरेक्टिक्स और कैर्ब लोडिंग के दुर्पयोग

डाइरेक्टिक्स में वे सपल्मेंट आते हैं जो शरीर से ज्यादा पानी को निकाल देता है। चूंकि आपका वजन पानी, वसा, मसल्स, मांस और हड्डियों की डेंसिटी से मिलकर पूरा होता है यह दवाईयां बॉडीबिल्डिंग के प्रयोगी चरणों में अवांचित मोटापे के स्तर को बढ़ाने में प्रभावी होती है, इसका प्रभाव 4-5 प्रतिशत होता है। इन दवाईयों के साथ सबसे बड़ी समस्या यह है कि इनके सेवन से भूख कम होने लगती है, साथ ये पाचन की क्रिया को भी कुप्रभावित करते है। श्रेष्ठ प्रशिक्षकों का समूह अपने ग्राहकों को कैर्ब अप  करने की सलाह देते है जिसका मतलब होता है कि आप ज्यादा से ज्यादा कैर्ब्स लें जो की खतरनाक रेसपी साबित हो सकती है। यही सबसे  प्रमुख वजह कि डिसटेंडेड गट की समस्या होती  है जबकी  साधारण धारणा इस समस्या को और गंभीरता से  दिखाती है कि इससे हार्मोन डिसॉर्डर्स बढ़ते है। 

हार्मोन्स विकास के दुर्पयोग

ग्रोथ हार्मोन पीयूष ग्रंथि में छिपा होता है और यह कोशिका के विकास, वृद्धि और पुन: निर्माण के लिए उत्तरदायी होता है। इसके लिए सबसे बेहतर शब्द कोशिका विकास ही होगा। जाहिर तौर पर  ऐथ्लीट्स इसकी वजह से सानदार तरीके से मसल्स प्राप्त करते हैं पर कुछ एक मामलों में ऑरगन बढ़ने की शिकायत भी सामने आती है। इसे और असानी से हम ऐसे समझ सकते हैं कि हार्मोन विकसित करने वाले सप्लिमेंट्‍स से छोटे इन्टेसटाईन और बड़े इन्टेसटाईन दोनों की कोशिकएं बढ़ने लगती है। इसका क्या अभिप्राय है?  इसका अभिप्राय यह है कि आपके पेट का आकार बढ़ने लगा है यह तब होता है जब आप पेट की खाली जगह पर व्यायाम नहीं कर पा रहे हैं|

अर्नाल्ड

Image Source: www.twitter.com

पेट के मसल्स का फैलना
    
दो और दो को जोड़े? ऊपर लगी  तस्वीर को देंखे और आज के दौर की बॉडीबिल्डिंग स्तर के बारे में सोचे तो आपको लगेगा की आपका हीरो ऑर्नॉल्ड भी इन्हें चुनौती दे सकेगा। यहीं नहीं हम यह भी जानते हैं कि फिल हिद ऑर्नॉल्ड से कद में छोटे थें फिर भी उन्होने ऑर्नॉल्ड को भार में पछाड़ा था। मैं कहना चाहुंगा कि उनके कम से कम 25 पाऊंड अधिक मसल्स थें वब भी तब जब ऑर्नॉल्ड का सबसे बेहतर समय चल रहा था। यह किसी हर्मोन दवा की से वजह नहीं था बल्कि केवल ड्रग के इस्तेमाल से ऐसा था। आज के दौर के पौष्टिक आहार और तकनीक जिनके वजह से मसल्स नामुमकिन अनुपात को पार कर विकसीत हो जाता है के पीछे विज्ञान है ।  

नामुकिन अनुपात में पेट बाहर निकल आता है, साथ ही विचलित करने वाले पेट के मसल्स भी विकसीत हो  जाते है। आप एक 5’9 के व्यक्ति जिसका वजन 140 किलो है से यह अपेक्षा नहीं कर सकते हैं कि उसकी कमर 28 ईंच हो। यह असंभव  है। इसलिए कमर लोगों की आंखों में चुभती है।

ड्रग उपयोगिता को मैनेज करने में असमर्थता

इस तरीके से यह बिल्कुल नीचे आता है। ड्रग्स की  संख्या जिसका इस्तेमाल  प्रो बॉडीबिल्डर आजकल करते है यह दिवानगी की हद है। अगर ऑर्नॉल्ड के जमाने की तुलना में बात करें तो उस जमाने के बॉडीबिल्डर वास्तव में आश्चर्यचकित करते है। जाहिर सी बात है कि अभी तब ऐसी कोई वैज्ञानिक अध्ययन नहीं हुई है जो बता सके की ये ऐनाबॉलिक कॉकटेल्स किसी व्यक्ति विशेष पर कैसा असर डालेगा। कुछ लोगों की तो मृत्यु हो गयी, और कुछ लोगों के अत्यधिक और मल्टीपल ऑर्गन कार्य करना बंद करने लगे और तो और महिलाओं के शरीर ब्रेड्स की तरह फैल गए। यही वजह है कि स्टेरॉइड्स को एक दो धारी तलवार कहा गया है। उदाहरण से समझते हैं, आजकल बॉडीबिल्डर इन्सुलिन का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इन्सुलिन ब्लड सुगर पर सीधा प्रभाव डालता है जिसका मतलब है कि डाईरेटिक्स और कैर्ब्स के लोड्स का उपयोग करना अपने शरीर के लिए मुसीबतों को दावत देने जैसा है।

कुछ प्रशिक्षक आज भी किसी मूर्ख की तरह यह मानते हैं कि ज्यादा ड्रग से ज्यादा बेहतर शरीर विकसित होता है। जाहिर तौर पर इस केस में तो ऐसा नहीं है पर फिर भी मैं आपको सलाह दूंगा कि आप स्टेरॉइड के चक्कर में ना पड़े। संपूर्णरूप से फिटनेस की धारणा इस पर अधारित है कि आप कैसे स्वस्थ रहें और शरीर को बड़ा करने के लिए बाहरी रसायणों का सेवन ना करें। जैसा कि ऑर्नॉल्ड ने कहा है कि ये ऐथ्लीट्स ज्यादा समय तक खूबसूरत नहीं दिखने वाले हैं। उन्होने यह भी कहा है कि,”जिस तरीके से बॉडीबिल्डिंग की जा रही है वह स्वीकार्य नहीं है, हम नहीं चाहते है कि आपका पेट निकला हो। हम चाहते हैं कि आप सबसे खूबसूरत व्यक्ति के रूप में दिखे और सबसे ऐथलेटिक्स व्यक्ति बने।” यहां हम सहमत है। चलिए खुद को दोखा देना बंद करें और ऐसे बॉडीबिल्डिंग को अपनाए जिससे की आप वसा रहित पेट का प्रदर्शन कर सके।

 

Ask your question