Hair, Skin & Nails 1 MIN READ 39888 VIEWS January 3, 2018

एलोवेरा जेल के 10 फायदे और नुकसान

Written By Saurabh Monga

एलोवेरा जेल के 10 फायदे

एलोवेरा के कई फायदे हैं लेकिन लोगों को ये सारे पता नहीं होते। एलोवेरा जूस अच्छी हेल्थ और एलोवेरा जेल को खूबसूरती के लिए इस्तेमाल करें तो इससे कई हैरतअंगेज फायदे हो सकते हैं।

एलोवेरा  के अनगिनत फायदे हे, लेकिन लोगो को इस अनमोल पौधे के बारे में  इतना गहरा ज्ञान नहीं होता हे।  आपने कई विज्ञापन देखे होंगे टेलीविज़न पर जहाँ हमें इस चमत्कारी पौधे से बने हुए जेल और क्रीम दीखते ह।  हमे  इन विज्ञापनों से यही तोह ज्ञात होता है कि एलोवेरा सौंदर्य निखारने में सक्षम है, पर क्या आपको ये पता है की सुंदरता के साथ साथ ये हमारे स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमध्  हे? 

ये एक हरे रंग का पौधा हे जो लगभग हर भारतीय के आंगन में पाया जाता हैं। ।  इस पौधे क पत्तो में एक प्रकार के जेल/ पानी  रहता हे जिसे निकालकर अलोएवरा के जूस और भिन्न तरफ के प्रोडक्ट्स बनाये जाते हैं। अगर आप एलोवेरा की पत्ती को छीलेंगे तो आपको ताजा एलोवेरा जेल मिलेगा। जेल के अलावा पत्ती से एक रस निकलता है जिसे एलो लेटेक्स कहते हैं। इस लेटेक्स में काफी पोषक तत्व होते हैं और आपके शरीर और बालों के लिए काफी फायदेमंद होता है। अगर आपके घर पर ताज़ा पत्ते उपलब्ध नहीं हैं  या घर पर जेल/ जूस बनाना काफी झंझट का काम लगता हैं तो आप बज़्ज़ार से  या ऑनलाइन एलोवेरा के चीज़े भी ले सकते हैं।  अगर स्वस्थ्य रहना चाहते हैं तो इसे रोजाना अपनी डाइट में ज़रूर शामिल करें।

एलोवेरा को किसी परिचय की जरूरत नहीं। अपने गुणों के चलते इस  चमत्कारी पौधे ब्यूटी और हेल्थ दोनों क्षेत्रों में धूम मचा रखी है। आप स्वस्थ शरीर के लिए एलोवेरा जूस पी सकते हैं और खूबसूरत और बेदाग त्वचा पाने के लिए एलोवेरा जेल लगा सकते हैं। ये आपके बालों पर भी चमत्कारिक असर दिखाता है। चाहे सन बर्न हो, बेजान त्वचा हो, कट गया हो, छिल गया हो, रूखे- उलझे बाल हो  एलोवेरा आपको कई त्वचा और बालों की समस्या से निजात दिलाता है। इससे एक्ने और धब्बों से भी असरकारक रूप से छुटकारा मिलता है। एलोवेरा जेल के साथ नींबू की कुछ बूंदें मिलाएं और रात में लगाकर सोएं। इसका इस्तेमाल रोजाना करें और आपको दाग-धब्बे कम दिखाई देंगे।

एलोवेरा जेल के आकर्षणीय उपयोग: 

इस लेख के द्वारा हम आपको बताएँगे एलोवेरा जूस  और जेल  के कुछ मुख्य फायदे।  क्या आप तैयार हैं? 

  • स्किन में कैसे इस्तेमाल करें एलोवेरा

  1. एलोवेरा जेल ड्राई और परतदार त्वचा को हाइड्रेट और मॉइस्चराइज रखती है। अगर आपकी त्वचा डल और थकी हुई लग रही है तो आप एलोवेरा जेल को  फेस पैक की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं, आप अपने घर के फेस पैक्स में एलोवेरा जेल डालकर उन्हें ज्यादा इफेक्टिव बना सकते हैं।
  2.   रोज़ रात को सोने से पहले विटामिन इ इस जेल में मिलकर अपने त्वचा में लगा सकते है, इससे आपके त्वचा में निखार आएगा और दाग धब्बे तथा पिम्पल्स भी काम हो जायेंग।  
  3. 1 चम्मच एलोवेरा जेल और 1 चम्मच इंस्टेंट ओटमील में आधा चम्मच ऑलिव ऑयल मिलाएं और स्मूथ पेस्ट बना लें। इसे पूरे चेहरे और गर्दन पर लगाएं और 30 मिनट तक सूखने दें। फिर ठंडे पानी से धो लें। ओटमील से चेहरा स्क्रब होगा और ऑलिव ऑयल पोषण देगा और एलोवेरा जेल से खोई नमी वापस मिलेगी।
  • त्वचा को रखे जवान

प्री-मैच्योर एजिंग की पहली निशानी  होती है झुर्रियां और फाइन लाइन्स। कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट्स और केमिकल प्रोडक्ट्स में बड़ी रकम खर्च करने से बेहतर है आप कम उम्र से ही त्वचा की देखभाल करना शुरू कर दें। एलोवेरा जेल को चेहरा पर लगाएं और इसे अपना जादू चलाने दें। एलोवेरा की पत्ती में बीटा कैरोटीन, विटामिन ए और विटामिन ई जैसे कई  एंटीऑक्सीडेंट हैं। ये सारी चीजें आपकी स्किन के टेक्सचर को अच्छा करती हैं और इसमें प्राकृतिक कसाव बनाए रखती हैं जिससे आपके झुरिये काम हो जाती है। 

  • सनबर्न में राहत दे और टैनिंग हटाए

एलोवेरा जेल सुरक्षा की परत की तरह काम करता है और नमी को वापस लौटता है। यह त्वचा की एपिथेलियल लेवल को ठीक करता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा बहुत ज्यादा होती है जिससे त्वचा बहुत जल्दी ठीक होती है। एलोवेरा जेल को कुछ घंटों  के लिए फ्रिज में रखें और सनबर्न स्किन पर पर्याप्त मात्रा में लगाएं। इससे आपको तुरंत ठंडक मिलेगी साथ ही आपकी त्वचा जल्दी  ठीक भी होगी।

  • मॉइश्चराइजर

एलोवेरा में 99.5 % वाटर कंटेंट होते हैं जो नॉर्मल, ड्राई और ऑइली स्किन को नमी  प्रदान करती है। यह बॉडी, फेस, लेग्स, आर्म्स और हेयर के लिए बढ़िया मॉइश्चराइजर होता है। ड्राई स्किन के लिए आप इसे एडिशनल मॉइश्चराइजिंग एजेंट्स जैसे ऑलिव ऑइल या ओट्स के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • कट्स और रैशेज के इलाज में कारगर

इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के चलते एलोवेरा जेल को हम कीड़ा काटने  पर और रैशेज होने पर भी लगा सकते है। इससे काफी रहत मिलता है।  आप इस जेल को छोटे-मोटे झकम  पर  भी लगा सकते हैं। इसको  आफ्टर शेव लोशन की तरह भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसे हाथों-पैरों की वैक्सिंग और शेविंग के बाद भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह आपकी त्वचा को ठंडक देगी साथ ही खोई नमी भी लौटाएगी।

बालों के लिए भी उपयोगी है एलोवेरा जेल:

  1. बढ़िया कंडिशनर

एलोवेरा जेल का कंडिशनिंग शक्ति  इतना जबरदस्त है कि यह महंगे से महंगे कंडीशनर को भी मात दे सकता है। एलोवेरा में प्रोटियोलिटिक एंजाइम काफी मात्रा में पाए जाते हैं। ये एंजाइम डेड सेल्स निकलने में काफी सक्षम होती हैं और नए सेल के विकास में मदद करते हैं जो आपके बालों को मरम्मत करते है। एलोवेरा बालो को पोषण प्रदान करती है , उनमें चमक जगती  और उनको मजबूत बनाने में सहायता करती है।   शैंपू के बाद आप एलोवेरा जेल को कंडीशनर के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं वहीं लीव-इन कंडिशनर के तौर पर भी बालों पर लगाकर छोड़ सकते हैं। एलोवेरा जेल और पानी की बराबर मात्रा एक स्प्रे बॉटल में मिलाएं एबंग इस मिश्रण को अपने बालों के सिरों पर स्प्रे करें। इससे आपके बाल उलझेंगे नहीं और बाल सिल्की स्मूथ हो जाएंगे।

  1. सिर की त्वचा का पीएच बैलेंस रखें

सिर की त्वचा का सामान्य पीएच 5.5 होता है। जब यह बैलेंस गड़बड़ हो जाता है तो बालों से जुड़े समस्या  शुरू  हो जाती हैं। ज़्यादातर  शैंपू  जो हम खरीदते है उनमे सर्फैक्टेंट्स होते हैं। क्योंकि यह अल्कालाइन होते हैं, ये आपकी स्काल्प का नॉर्मल पीएच बदल सकते हैं। बालों का पीएच और मॉइश्चर वापस पाने के लिए एलोवेरा एक बढ़िया उपाय है। इससे बाल स्मूद होजाती  है साथ ही नए बाल भी एते है।

  1. मिले डैंड्रफ से छुटकारा

अगर आप डैंड्रफ से जुड़ी समस्याएं जैसे पपड़ीदार सिर की त्वचा और इसकी खुजली जैसी समस्याओं से परेशान हैं तो एलोवेरा युक्त शैंपू आपकी समस्याओं का एकमात्र समाधान है। डैंड्रफ या तो ऑइली स्कैल्प या स्काल्प में किसी तरह के संक्रमण की वजह से होती है। एलोवेरा जेल इन सभी समस्याओं का समाधान करने में सक्षम होती है। यह डेड स्किन सेल्स को निकालने और पोर्स खोलने में बहुत कारगर होता है। इसकी एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी माइक्रोबियल प्रॉपर्टीज इन्फेक्शन ( संक्रमण) को दूर रखती हैं।

  • हेल्थ के लिए एलोवेरा जेल के फायदे

  1. सूजन कम करे एलोवेरा जेल

एलोवेरा जूस के इस्तेमाल से सूजन कम होती है। फ्री रेडिकल्स की वजह से हुआ ऑक्सीडेटिव डैमेज के वजह से शरीर में सूजन होता है। एलोवेरा में एंटीऑक्सीडेंट्स पर्याप्त मात्रा में होते हैं। ये एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल्स से होने वाले डैमेज को रोकते हैं। आप आसानी से एलोवेरा ड्रिंक खरीद कर पी सकते हैं। एलोवेरा के कैप्सूल भी इस्तेमाल कर सकते हैं। एलोवेरा का जूस अर्थराइटिस और रूमेटिज्म में काफी फायदेमंद होता है।

  1. डाइजेशन में मदद करें एलोवेरा जेल

रोजाना एलोवेरा जूस पीना अच्छी आदत है। एलोवेरा के इस्तेमाल से डाइजेशन (पाचन ) अच्छा होता है और अल्सर से भी राहत मिलती है। लेकिन एलोवेरा जूस के साइड इफेक्ट्स से बचने के लिए पहले डॉक्टर से बात जरूर कर लें।

  1. इम्यूनिटी दुरुस्त करे एलोवेरा जेल

एलोवेरा रोग प्रतिरोधक शक्ति (इम्यूटी) बूस्ट करने के लिए जाना जाता है। एलोवेरा की वजह से सेल्स में नाइट्रिक ऑक्साइड और साइटोकाइन्स बनने लगते हैं जिससे हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक शक्ति की तकर बढ़ती है।

  1. ओरल हेल्थ के लिए होता है बढ़िया

जब मौखिक स्वास्थ्य (ओरल हेल्थ) की बात आती है तो कई वैज्ञानिक अनुसंधानों में यह पाया गया है  कि एलोवेरा दंतमंजन / टूथपेस्ट काफी प्रभावशाली होती है। यह मुंह के घावों को ठीक करता है और मसूड़ों को मॉइश्चराइज या नमी  प्रदान करती है। इससे मसूड़ों की सूजन भी कम होती है। एंटी-बैक्टीरियल गुणों से कैविटी पैदा करने वाले कीटाणु भी दूर रहते हैं।

एलोवेरा जेल के साइड इफेक्ट्स

किसी भी चीज का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल अच्छा नहीं होता। कई लोगों को एलोवेरा से एलर्जी होती है अथवा एलोवेरा उनके त्वचा के लिए अनुकूल नहीं होता।  ऐसे मामलो में साइड इफेक्ट्स का दिखाई पड़ना सामान्य है। एलोवेरा से एलर्जी खास तोर पे उन लोगो में पायी जाती है जिन्हे लिली , तुलिप , प्याज़ , लहसुन और अन्य लीलिएसी फैमिली के पौधों से एलर्जी होती है।

एलोवेरा जेल के इन साइड इफेक्ट्स के बारे में आपको जरूर पता होना चाहिए:

  • एलो लेटेक्स, जो कि एलोवेरा की पत्ती का हिस्सा होता है, ये आपको सूट नहीं कर सकता है। इससे गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की समस्या , पेट दर्द, अल्सर, इंटेस्टाइन में रुकावट और अपेंडिसाइटिस हो सकता है। ज्यादा मात्रा में पीने पर यह खतरनाक साबित हो सकता है।
  • एलोवेरा पीने से आपके ब्लड शुगर कम हो सकता है। अगर आप डायबेटिक है तो इससे बड़ी समस्या हो सकती है। इसलिए इसके इस्तेमाल से पहले अपने डॉक्टर से बात कर लें।
  • गर्भवती (प्रेग्नेंट) और स्तनपान (ब्रेस्टफीडिंग)  कराने वाली औरतों  को एलोवेरा से सख्त तौर पर दूर रहना चाहिए। इससे प्रेग्नेंट महिलाओं में यूटेराइन कॉन्ट्रैक्शन हो सकता है। इससे बच्चों में  जन्म दोष (बर्थ डिफेक्ट्स) और यहां तक गर्भपात (मिसकैरेज)  तक हो सकता है।
  • एलोवेरा जूस पीने से एलर्जिक प्रतिक्रिया हो सकती हैं जैसे- त्वचा के चकत्ते (स्किन रैशेज), स्किन पर खुजली, सांस लेने में दिक्कत, हीव्स, छाती में जकड़न, चेहरे की सूजन, होठ, मुंह या गले में जलन।
  • असंसाधित (उनपरोसेस्सेड ) एलोवेरा जूस पीने से शरीर का संतुलन बिगड़ सकता है  और निर्जलीकरण (डिहाइड्रेशन) हो सकता है।
  • एलोवेरा जूस से पोटैशियम लेवल डाउन हो जाता है। इससे अनियमित धड़कन ( इर्रेगुलर हार्ट बीट) और दुर्बलता हो जाती है। इसलिए बुजुर्ग लोग जो काफी सरे दवाइया लेते है , उन्हें एलोवेरा जूस नहीं पीना चाहिए।
  • एलोवेरा जूस की  जरूरत से ज्यादा सेवन से यह पेल्विस में इकट्ठा होने लगता है जिससे किडनी पर खराब प्रभाव पड़ता है।

डॉक्टर की सलाह पर सीमित मात्रा में एलोवेरा जूस पीने में कोई नुकसान नहीं होता। ये सारे प्रभाव तभी दिखाई देते हैं जब इसे बताई गई मात्रा से ज्यादा सेवन कर लिया  जाता है।

आप एलोवेरा की गोलियां ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं इससे एलोवेरा के सारे फायदे मिलेंगे। अब जब आपको इसके इतने फायदे पता चल गए हैं तो इस ग़ज़ा औषधि पौधे का और इससे बने चीजजो का  इस्तेमाल ज़रूर करे।  

Read these next