Hindi 1 MIN READ 381 VIEWS May 5, 2024

पोहा खाने के फायदे और नुकसान

Written By HealthKart
Medically Reviewed By Dr. Aarti Nehra

भारतीय क्युज़िन अपने समृद्ध और विविध स्वाद के लिए जाना जाता है, पोहा, भारतीय क्युज़िन का एक प्रिय व्यंजन, यह फ्लैटनड राइस से बनता है, जिसे विभिन्न प्रकार के मसालों और सब्जियों के साथ पकाया जाता है। यह न केवल स्वादिष्ट है बल्कि ब्रेकफास्ट के लिए एक हेल्दी आप्शन भी है क्योंकि इसमें कैलोरी कम और पोषक तत्व अधिक होते हैं। इस लेख में, हम पोहा खाने के फायदे और नुकसान के बारे में बताएँगे । 

पोहा खाने के फायदे

पोहा एक स्वाद और सवस्थ ब्रेकफास्ट है जो कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। इसे बनाना आसान है और यह आपके दिन की शुरुआत करने का एक शानदार तरीका है। पोहा खाने के फायदे निम्नलिखित हैं:

  • पाचन में आसानी: पोहे में फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जो डाईजेशन प्रोसेस को बेहतर बनाने में मदद करती है। यह पेट के लिए हल्का होता है और आपको लंबे समय तक भरा हुआ महसूस कराता है।
  • आयरन से भरपूर: पोहा आयरन का अच्छा स्रोत है, जो रेड ब्लड सेल्स के निर्माण में मदद करता है। यह एनीमिया से पीड़ित लोगों के लिए भी फायदेमंद होता है।
  • प्रोबायोटिक पावरहाउस: पोहे में प्रोबायोटिक गुण होते हैं जो आंत के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं।
  • ऊर्जादायक: पोहे में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक, और फैट की मात्रा कम होती है, जो इसे एक एनेर्जेटिक ब्रेकफास्ट बनाता है।
  • ब्लड शुगर कंट्रोल: पोहे में मौजूद फाइबर और विटामिन बी1 ब्लड शुगर के लेवल को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। यह डाईबिटिज़ रोगियों के लिए फायदेमंद होता है।
  • ग्लूटेन-मुक्त: पोहा ग्लूटेन-मुक्त होता है,जो इसे ग्लूटेन एलर्जी वाले लोगों के लिए एक अच्छा आप्शन बनाता है।
  • त्वचा का पोषण: पोहे में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो स्किन को हेल्दी रखने में मदद करते हैं।
  • कोगनिटिव सपोर्ट: पोहे में विटामिन बी और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो ब्रेन की हेल्थ को बेहतर बनाने में मदद करते हैं।
  • वेट मैनेजमेंट : पोहा कम कैलोरी वाला ब्रेकफास्ट है, जो वेट लोस में मदद कर सकता है।
  • बालों के स्वास्थ्य को बढ़ावा: पोहे में प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो बालों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

पोहा खाने के नुकसान

पोहा एक लोकप्रिय और सुविधाजनक ब्रेकफास्ट आप्शन है, लेकिन इसकी संभावित कमियों के बारे में जागरूक होना आवश्यक है। पोहा खाने के नुकसान निम्नलिखित है:

  • पाचन संबंधी परेशानी: पोहे के अत्यधिक सेवन से पेट में दर्द हो सकता है, जिसका कारण इसकी हाई फाइबर कंटेंट है। पाचन संबंधी समस्याओं से बचने के लिए पोहे का सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए।
  • कंटैमिनेशन का खतरा: पोहा खाने से फूड पॉइजनिंग का खतरा बढ़ जाता है। इस जोखिम को कम करने और सुरक्षित रूप से इसके पूर्ण लाभों का आनंद लेने के लिए पोहे को ठीक से पकाने की सलाह दी जाती है।
  • आयरन की अधिकता :पोहे में आयरन की मात्रा अधिक होती है, इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से कुछ संवेदनशील लोगों मे आयरन विषाक्तता हो सकती है। आयरन विषाक्तता के लक्षणों में गंभीर उल्टी, निर्जलीकरण, दस्त शामिल हैं।
  • हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स: पोहे में हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है, जिसका अर्थ है कि यह ब्लड शुगर के लेवल में तेजी से वृद्धि कर सकता है। यह डाईबिटिज़  वाले व्यक्तियों या अपने ब्लड शुगर के लेवल को मैनेज करने की कोशिश करने वालों के लिए उपयुक्त नहीं होता है।
  • प्रोटीन में कम: पोहा मुख्य रूप से चावल से बनाया जाता है, जिसमें अन्य अनाजों की तुलना में प्रोटीन कम होता है। परिणामस्वरूप, यह आपको लंबे समय तक तृप्त और संतुष्ट महसूस कराने के लिए पर्याप्त प्रोटीन प्रदान नहीं करता है।
  • कार्ब्स की मात्रा अधिक: पोहा में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक होती है, जो कम कार्ब या केटोजेनिक आहार का पालन करने वालों के लिए नुकसानदायक हो सकता है।
  • प्रोसेस्ड: पोहा प्रोसेस्ड राइस होता है, जिसका अर्थ है कि इसे प्रोसेसिंग के कई चरणों से गुजरना पड़ता है जो साबुत अनाज की तुलना में इसके न्यूट्रीशनल वैल्यू को कम कर देता है।
  • एडिटिव्स: कमर्शियल रूप से उपलब्ध पोहे में प्रिज़र्वटिव और आर्टिफीसियल फ्लेवर जैसे एडिटिव्स हो सकते हैं, जो नियमित रूप से सेवन करने पर स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद नहीं होते हैं।

पोहा की तासीर कैसी होती है

पोहे की तासीर ठंडी होती है। पोहे को आमतौर पर बॉडी पर कुलिंग इफ़ेक्ट वाला माना जाता है, जिसका अर्थ है कि यह पित्त दोष को शांत करता है और यह पेट के लिए लाइट होता है और डाईजेशन प्रोसेस को बेहतर बनाने में मदद करता है क्योंकि पोहे में फाइबर की मात्रा अधिक होती है और यह पेट को साफ रखने में मदद करती है। इसके अलावा, पोहे में आयरन, कैल्शियम और विटामिन बी जैसे पोषक तत्व भी होते हैं जो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं। गर्मी के मौसम में पोहे का सेवन करना विशेष रूप से फायदेमंद होता है।

निष्कर्ष

पोहा सिर्फ एक सिंपल ब्रेकफास्ट का आप्शन नहीं है, यह बहुमुखी प्रतिभा से समृद्ध व्यंजन है। चाहे आप इसे एक कम्फर्टेबल भोजन के रूप में आनंद लें या एक इंस्टेंट ब्रेकफास्ट के रूप में, पोहा अपने बेहतरीन स्वाद और न्यूट्रीशनल विशेषताओं के लिए अलग पहचाना पाता है। हमें उम्मीद है कि इस लेख  ने आपको पोहा खाने के फायदे और नुकसान से अवगत कराया होगा। तो, अगली बार जब आप पोहा खाए तो इस लेख को ज़रूर याद रखे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read these next